कोरोना वैक्सीन खरीद के मामले में ब्राजील ने चीन को झटका दिया है। ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो ने घोषणा की है कि वे चीन की सिनोवेक कंपनी की कोरोनावेक वैक्सीन को नहीं खरीदेंगे। जबकि, उनके स्वास्थ्य मंत्री ने एक दिन पहले ही दावा किया था कि वे ब्राजील के वैक्सीनेशन प्रोग्राम में अमरीका, ब्रिटेन और चीन को शामिल करेंगे।

जानकारी के अनुसार राष्ट्रपति बोलसोनारो ने सोशल मीडिया पर लिखा कि निश्चित रूप से हम चीनी वैक्सीन नहीं खरीदेंगे। इससे पहले राष्ट्रपति के एक समर्थक ने बोलसोनारो से चीन से कोरोना वैक्सीन नहीं खरीदने का आग्रह किया था। राष्ट्रपति ने कहा कि इस मुद्दे को बाद के दिनों में और स्पष्ट किया जाएगा।

बताया जा रहा है कि ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री डुआर्डो पज़ुएलो ने हाल ही कहा था कि देश के वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए उनका मंत्रालय एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की वैक्सीन के अलावा सिनोवेक की वैक्सीन को भी खरीदेगा। साओ पाओलो राज्य बायोमेडिकल रिसर्च सेंटर ब्यूटन इंस्टीट्यूट में सिनोवैक वैक्सीन का ट्रायल पहले से ही चल रहा है।

राष्टपति के बयान से अलग साओ पाओलो राज्य के गवर्नर जोओ डोरिया ने कहा कि उन्हें जनवरी में वैक्सीनेशन शुरू करने के लिए साल के अंत तक स्वास्थ्य नियामक की मंजूरी मिलने की उम्मीद है। डोरिया ने स्वास्थ्य मंत्रालय की बैठक के बाद कहा कि संघीय सरकार ने सिनोवैक वैक्सीन की 46 मिलियन खुराक खरीदने पर सहमति व्यक्त की है। उनका कहा है कि सिनोवेक की वैक्सीन को शामिल करने से हमें बड़ी सफलता मिल सकती है।

जानकारी के अनुसार ब्राजील सरकार पहले से ही एस्ट्राजेनेका, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वैक्सीन खरीदने की तैयारी कर चुकी है। इतना ही नहीं, वे इस वैक्सीन को अपने बायोमेडिकल रिसर्च सेंटर फियो क्रूज में उत्पादन करने की तैयारी भी कर रहे हैं।