एक युवा लड़के ने अपने 17 वर्षीय भाई को मौत के मुंह से बचाया। उसने मगरमच्छ (crocodile ) पर पत्थर फेंककर उसका ध्यान भटकाया और अपने भाई की जान बचा ली। ये घटना शनिवार को माधोटांडा इलाके की है।17 वर्षीय विकास और उसका 16 वर्षीय भाई नीरज खेत में काम करने के बाद एक सिंचाई नहर में हाथ धो रहे थे, तभी विकास को अचानक उनके दाहिने पैर में खिंचाव महसूस हुआ। उसके बाद उसने देखा कि मगरमच्छ (crocodile ) उसको नहर की ओर खींच रहा था।

जिसके बाद वह चिल्लाने लगा और मगरमच्छ (crocodile ) का विरोध करने लगा लेकिन उसकी ताकत का मुकाबला नहीं कर सका। अपने भाई को मुसीबत में देख नीरज ने एक बड़ा पत्थर उठाया और मगरमच्छ (crocodile attack) पर फेंक दिया। पत्थर लगने के बाद मगरमच्छ ने विकास को छोड़ दिया और विकास बाहर निकल आया। विकास को स्थानीय सामुदायिक केंद्र ले जाया गया, जहां उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। 

बाद में, नीरज ने वन अधिकारियों को बताया कि सिंचाई नहर के पास मगरमच्छ था और भाइयों ने इसे नोटिस नहीं किया और विकास मगरमच्छ के बहुत करीब पहुंच गया। वन विभाग द्वारा स्थानीय लोगों को सिंचाई नहरों के पास काम करते समय सतर्क रहने की सलाह दी गई है। मानसून के मौसम के दौरान, बाढ़ की नदियों में मगरमच्छ सिंचाई नहरों में तैरते हैं। वन विभाग ने लोगों को मगरमच्छों के हमले से आगाह करने के लिए मानव आवास के पास साइन बोर्ड लगाए हैं।