आईआरसीटीसी ने भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और आईसीआईसीआई समेत छह बैंकों द्वारा रेल टिकट की ऑनलाइन बुकिंग शुक्रवार को प्रतिबंधित कर दी। 

अब यात्री सिर्फ एचडीएफसी, इंडियन ओवरसीज बैंक, केनरा बैंक, इंडियन बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और एक्सिस बैंक के कार्ड से ही ई-टिकट का भुगतान कर सकते हैं। 

ये है विवाद 

दरअसल, सुविधा शुल्क को लेकर आईआरसीटीसी और बैंकों के विवाद ने अब तूल पकड़ लिया है। आईआरसीटीसी ने इस साल के शुरुआत में बैंकों से सुविधा शुल्क की राशि को बराबर-बराबर बांटने के लिए कहा था। 

हालांकि बैंकों का आरोप है कि आईआरसीटीसी शुल्क की पूरी राशि खुद ही रखना चाहती है। इस मुद्दे को लेकर भारतीय बैंक एसोसिएशन और आईआरसीटीसी के बीच हुई बातचीत भी बेनतीजा रही। 

ई-टिकट की बुकिंग के लिए किए गए ऑनलाइन भुगतान हासिल करने वाले सभी मर्चेंट को एक हिस्सा यानी मर्चेंट डिस्काउंट अमाउंट (एमडीआर) संबंधित बैंक को देना होता है, जिसके कार्ड के जरिए भुगतान होता है। 

एमडीआर भुगतान राशि के अनुसार तय किया जाता है। बैंकों की ओर से इस मुद्दे पर कहा गया कि सामान्य तौर पर जो मर्चेंट होता है वह संबंधित बैंक को पैसा देता है, लेकिन आईआरसीटीसी ने उन्हें कभी पैसा नहीं दिया, इस वजह से ये राशि ग्राहकों से वसूली जाती रही है।