पाकिस्तान में एकबार फिर शिया और सुन्नी मुस्लिमों में लड़ाई छड़ गई है। इसबार शिया समुदाय को निशाना बनाया गया है। आज मध्य पाकिस्तान में शिया समुदाय के धार्मिक जुलूस के दौरान बम विस्फोट हुआ, जिसमें कम से कम 3 लोगों की मौत हो गई तो 50 से अधिक जख्मी हो गए। सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे वीडियो में पुलिस की गाड़ियों और एंबुलेंस को घटनास्थल की ओर भागते देखा जा सकता है। सड़क पर जख्मी हालत में लोगों को मदद के लिए पुकारते देखा जा सकता है। सुन्नी बहुल पाकिस्तान में पहले भी अल्पसंख्यक शिया समुदाय पर हमले होते रहे हैं।

यह विस्फोट पूर्वी पंजाब प्रांत के बहावलनगर में हुआ। पुलिस अधिकारी मोहम्मद असद और शिया नेता खावार शाफकात ने बम विस्फोट की पुष्टि की। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि शहर में बहुत अधिक तनाव है। शिया समुदाय के लोग हमले के खिलाफ और कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं।

शाफकात ने कहा कि यह विस्फोट उस समय हुआ जब जुलूस बेहद संकरे मुहाजिर कॉलोनी से गुजर रहा था। उन्होंने हमले की निंदा करते हुए कहा कि सरकार को इस तरह के जुलूस की सुरक्षा बढ़ा देनी चाहिए, जिन्हें देश के दूसरे हिस्सों में भी निकाला जा रहा है।

इस बीच, अधिकारियों ने अशौरा उत्सव से एक दिन पहले देश भर में मोबाइल फोन सेवा को निलंबित कर दिया है। मुहर्रम के मौके पर शिया मुस्लिम पैगम्बर मोहम्मद के नवासे इमाम हुसैन की मौत का गम मनाते हैं। 7वीं सदी में मौजूदा इराक के कर्बला में युद्ध में उनकी कुर्बानी को याद करते हुए शिया मुस्लिम मातम मनाते हैं। दुनिया भर में शिया समुदाय के लोग खुद को यातनाएं देकर दुख प्रकट करते हैं।