अमरीका में बीते साल कोरोना वायरस का कहर चरम पर था। यहां रोजाना हजारों लोगों की मौत हो रही थी। ऐसे में शवों को दफनाने तक में प्रशासन को परेशानी हो रही थी। तब हालात ये थे कि प्रशासन को कोविड मरीजों के शवों को फ्रिजर ट्रकों में रखना पड़ा था। अब करीब एक साल बाद भी सैकड़ों शव उन्हीं फ्रिजर ट्रकों में ही रखे हैं। इन्हें अभी तक दफनाया नहीं गया है।

स्थानीय मीडिया के अनुसार स्थानीय प्रशासन ने इस बात को माना है कि करीब 750 शव अभी भी स्टोर किए गए हैं। अब धीरे-धीरे इन शवों को दफन करना शुरू किया जा रहा है। न्यूयॉर्क शहर में स्थित हार्ट आइसलैंड सबसे बड़ा कब्रिस्तान है, जहां गरीबों या अनजान लोगों के शवों को दफनाया जाता है, अब जो शव दफन होने का इंतजार कर रहे हैं, उन्हें भी यहां पर लाया जाएगा। अभी स्थानीय प्रशासन की ओर से इन मृतकों के परिवार से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है।

स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक, पिछले साल मार्च-अप्रैल में न्यूयॉर्क कोरोना वायरस की सबसे बुरी मार झेल रहा था। तब काफी शवों को स्टोर कर दिया गया था। क्योंकि कई परिवार अपने परिजनों को सही तरीके से विदा करना चाहते थे। अब करीब एक साल बाद अमरीका कोरोना की मार से उबर रहा है। कोरोना के कारण अमरीका में करीब 6 लाख मौतें दर्ज की गईं, जबकि वहां अभी भी 64 लाख एक्टिव केस हैं।