बांग्लादेश के ढाका में जमात इस्लाम और बीएनपी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने ढाका -18 और सिराजगंज -1 निर्वाचन क्षेत्रों में उपचुनावों में अनियमितता का आरोप लगाते हुए कम से कम सात बसों को आग लगा दी। पुलिस ने कहा कि आपराधिक गतिविधियों में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने कहा कि यह घटनाएं सुबह शाहबाग, बोंगशाल, मोतीझील, खिलगाँव, पल्टन, प्रेस क्लब और ढाका के प्रगति सरानी इलाकों में हुईं।

फिलहाल धमाके को नियंत्रण में ले लिया गया है। आग की घटनाओं में DDP के उपायुक्त (मीडिया) वालिद हुसैन ने कहा कि उपद्रवियों ने शहर के विभिन्न स्थानों पर बसों में आग लगा दी। आगजनी के हमलों में ढाका -18 उपचुनाव का लिंक हो सकता है। फिलहाल इस मामले में जांच जारी है। अभी तक किसी भी अपराधी को नहीं पकड़ा गया है। मोतीझील, प्रेस क्लब से सटे सचिवालय, बंगबंधु एवेन्यू पर अवामी लीग के केंद्रीय कार्यालय के सामने और शाहबाग क्षेत्र में दो बसों में आग लगा दी गई।
इसी के साथ उसी दिन अन्य समूह ने अन्य दो बसों में आग लगा दी। सीसीटीवी फुटेज में सुबह दो लोगों को भागते हुए दिखाया गया जब एक सरकारी बस ने नया पलटन में कर कार्यालय के सामने आग लगा दी थी। कर कार्यालय के कर्मचारियों ने आकर आग बुझाई। पुलिस इसके बारे में जांच पड़ताल कर रही है। और जिन लोगों ने बसों को आग लगाई उनके ऊपर कार्यवाही कर की जाएगी।