म्यांमार में आंग सांग सू ची की गिरफ्तारी के बाद सेना ने  देश में आतंक मचाना शुरू कर दिया है। म्यांमार वासी देश के लोकतंत्र को बचाने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे। सेना नागरिकों पर बहुत जुल्म ढाह रही है। नागरिकों के संघर्ष में म्यांमार के अंदर सेना द्वारा खूनी हिंसा किया जा रहा है। म्यां।मार की सेना ने जहां वार्षिक सशस्त्र  बल दिवस के दिन परेड निकालकर अपनी ताकत का प्रदर्शन किया, वहीं सड़कों पर खून की होली खेल रही है।


 
म्यांमार में सेना द्वारा हाल ही में कम से कम 114 लोगों को मौत के घाट उतार दिया और अब तक आंग सू की गिरफ्तारी के बाद से 320 लोगों को सेना मार चुकी है। म्यांमार देश के करीब 44 कस्बोंत और शहरों में सेना ने कत्ले1आम कर रही है। सेना लोगों के घर में घुसकर लोगों को गोली से उड़ा रही है। म्यांरमार के सैनिकों ने हाल ही में मेइखतिला के आवासीय इलाके में गोलीबारी की है।


मेइखतिला के आवासीय इलाके में हिंसा में करीब 20 नाबालिग बच्चों  को सैनिकों ने मौत के घाट उतारा है। म्यांममार के यांगून में मौजूदा समय के हत्याओं को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापक निंदा हुई है और म्यांरमार में कई कूटनीतिक मिशनों ने बयान जारी किए हैं जिनमें बच्चों समेत नागरिकों की हत्या का जिक्र भी किया गया है। बता दें कि तख्तापलट के बाद हुए दमन में 328 लोगों की मौत की पुष्टि की गई है।