7 मई 2019 को असम के वित्त मंत्री और जलुकबारी के विधायक हिमंता बिस्वा सरमा पर बंगाल में हुए हमले के विरोध में भाजपा के कार्यकर्ताओं ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुतले जलाए हैं। कार्यकर्ताओं ने ममता के खिलाफ नारेबाजी भी की और साथ ही मामले की जांच की भी मांग की।


हिमंता बिस्वा और पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दीलीप घोष पर कथित तौर पर तृणमूल कांग्रेस के खेजूरी क्षेत्र के अंतर्गत खांथी लोकसभा सीट पर हुए हमले में बिजेपी के कुछ कार्यकर्ता घायल हुए हैं। इस घटना के बाद असम के मुख्यमंत्री ने हमले की कड़ी निंदा की और इस हमले और हमले में शामिल लोगों के खिलाफ जांच की मांग की है।उल्लेखनीय है कि बंगाल में लोकसभा चुनाव प्रचार में आए असम सरकार के मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा और बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष पर मंगलवार की रात हमले का मामला सामने आया है। तृणमूल कांग्रेस के गढ़ माने जाने वाले पूर्व मिदनापुर के कांथी लोकसभा अंतर्गत खेजुरी इलाके में दोनों नेताओं के काफिले को रोककर कथित तृणमूल कांग्रेस समर्थकों ने तोडफ़ोड़ की।
भाजपा समर्थकों के साथ मारपीट की। हिमंता ने ट्वीट में हमले के पीछे तृणमूल कांग्रेस समर्थकों का हाथ होने का आरोप लगाया है। अपने एक अन्य ट्वीट में असम के मंत्री ने मुख्यमंत्री पर सत्ता के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। साथ ही राज्य पुलिस पर पूरी घटना पर आंखे मूंदने का भी आरोप लगाया है। ट्वीट में उन्होंने कहा है कि सडक़ के दोनों किनारों पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता खड़े हुए हैं।