पश्चिम बंगाल स्थित मिदनापुर में गृह मंत्री अमित शाह की रैली से लौटते वक्त भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला हुआ है। हमले में भाजपा के 15 कार्यकर्ता घायल हुए हैं। इनमें 6 को काफी चोटें आई हैं और हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। इस हमले में गाड़ियों को भी बुरी तरह नुकसान पहुंचाया गया है। हमले का आरोप टीएमसी कार्यकर्ताओं पर लगा है। चैनल ने अपने रिपोर्टर के हवाले से बताया कि जब भाजपा कार्यकर्ता अमित शाह की रैली से लौट रहे थे तब उनकी तथाकथित टीएमसी कार्यकर्ताओं से झड़प हो गई। मामले में पुलिस ने खबर लिखे जाने तक कोई बयान नहीं दिया है।

इधर भाजपा ने हमले का आरोप सीधे तौर पर सत्तापक्ष टीएमसी कार्यकर्ताओं पर लगाया है। पार्टी ने दावा किया कि हमलावर टीएमसी कार्यकर्ता थे। ये लोग सुभेंदु अधिकारी के भाजपा में शामिल होने से नाराज थे। इस बीच अधिकारी के खिलाफ नारेबाजी भी की गई। रिपोर्टर ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच टकराव होने की खबरें हैं। बता दें कि शनिवार को पश्चिमी मिदनापुर में गृह मंत्री शाह की रैली में बंगाल के दिग्गज नेता शुभेंदु अधिकारी सहित टीएम के कई बड़े नेता भाजपा में शामिल हो गए। इस पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव आने तक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपनी पार्टी में अकेली रह जाएंगी।

अधिकारी तृणमूल कांग्रेस के उन नेताओं में थे जिनका ममता के बाद राज्य में बड़ा जनाधार था। मगर वो विभिन्न दलों के नौ विधायकों और तृणमूल कांग्रेस के एक सांसद के साथ शनिवार को यहां केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की रैली में भाजपा में शामिल हो गए। भगवा पार्टी में शामिल होने वाले विधायकों में पांच तृणमूल कांग्रेस से हैं। शाह ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस का ‘मां, माटी, मानुष’ का नारा ‘वसूली, भ्रष्टाचार और भाई-भतीजवााद’ में तब्दील हो गया है। उन्होंने भरोसा जताया कि विधानसभा चुनाव में 200 से ज्यादा सीटें जीत कर भाजपा राज्य में अगली सरकार बनाएगी। पश्चिम बंगाल विधानसभा में कुल 294 सीटें हैं।

शाह ने कहा, ‘जब बंगाल के लोग राज्य में बदलाव लाने के लिए भाजपा के साथ खड़े हो रहे हैं तो वह (ममता) चिंतित क्यों हो रही हैं? यह महज शुरूआत है। ये लोग स्वेच्छा से आपकी पार्टी (तृणमूल कांग्रेस) छोडेंगे।’ शाह ने ममता पर तंज कसते हुए कहा, ‘जिस तरह से नेता आपकी पार्टी को छोड़ कर जा रहे हैं, चुनाव आने तक ममता बनर्जी तृणमूल कांग्रेस में अकेली रह जाएंगी।’ शाह ने कहा, ‘जिस तरह की सुनामी आज मैं देख रहा हूं, उसकी आपने कभी कल्पना भी नहीं की होगी।’