उत्तर प्रदेश में महत्वपूर्ण विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा की योजना 5 अगस्त को राज्य में अन्न महोत्सव (एक खाद्यान्न उत्सव) मनाने की है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लगभग 80,000 राशन विक्रेताओं से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बात करने की उम्मीद है।

चुनाव पूर्व हिस्से के रूप में जो एक करोड़ लोगों से जुड़ने की उम्मीद करता है, भाजपा ने इस महीने के बहुप्रतीक्षित कैबिनेट फेरबदल में यूपी के सात चेहरों को केंद्रीय मंत्री बनाया है।

भाजपा से छह और अपना दल की अनुप्रिया पटेल को पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा से निर्देश मिला है कि वह 'जनता से आशीर्वाद लेने' के लिए तीन-चार संसदीय क्षेत्रों और चार-पांच जिलों - 300-400 किमी के क्षेत्र को कवर करते हुए जन आशीर्वाद यात्रा करें। मंत्रियों को बताया गया है कि ये 15 अगस्त के बाद और उन्हें कोविड के नियमों का पालन करते हुए होनी चाहिए।

सभी सांसदों को लोगों को कोविड वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित करने का भी निर्देश दिया गया है। उन्हें प्रधानमंत्री मोदी की ओर से किसानों के विरोध और पेगासस फोन हैकिंग कांड जैसे मुद्दों पर पार्टी का पक्ष जनता के सामने पेश कर विपक्ष से लड़ाई लड़ने का भी निर्देश दिया गया है।

यह तब आता है, जब राज्य सरकार को कृषि कानूनों पर बढ़ते विरोध का सामना करना पड़ता है। इस सप्ताह किसानों ने "मिशन यूपी" की बात की और चुनावी राज्य के सभी कोनों में अपने आंदोलन को ले जाने की रणनीति बनाई है।

पार्टी ने असम में सत्ता बरकरार रखी और पुडुचेरी सरकार में भागीदार बन गई, लेकिन तमिलनाडु में उसे झटका लगा, जहां वह अन्नाद्रमुक सरकार का हिस्सा थी। केरल में वह एक भी सीट जीतने में विफल रही। उसको बंगाल में भी सत्तारूढ़ तृणमूल से बड़ा झटका मिला।

पिछले महीने यूपी के भीतर असंतोष, जिसमें योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सार्वजनिक शिकायतें शामिल थीं, ने पार्टी को वरिष्ठ नेताओं को जांच के लिए भेजने के लिए पर्याप्त चिंतित किया।

यहां तक कि चर्चा भी थी कि योगी आदित्यनाथ - भाजपा के सबसे हाई-प्रोफाइल नेताओं में से एक - को बदला जा सकता है। हालांकि उन अफवाहों को पार्टी ने जल्दी से खारिज कर दिया, जिसमें जोर दिया गया कि वह बने रहेंगे।

भाजपा ने यह स्पष्ट कर दिया है कि योगी आदित्यनाथ अपना कार्यकाल पूरा करेंगे, हालांकि इससे आगे कोई वादा नहीं किया गया है। अब लगता है कि वह अपने चुनाव अभियान को तेज करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।