नई दिल्ली । भाजपा का मानना है कि त्रिपुरा में माकपा के 25 साल के शासन को खत्म करने के उसके अभियान को व्यापक आर्थिक  सुधारों से नहीं बल्कि एलपीजी सिलेंडर से बल मिलेगा। त्रिपुरा भाजपा अध्यक्ष बिप्लब कुमार देब ने कहा  कि प्रधानमंत्री उज्जला योजना के तहत 3.33 लाख गरीब महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन दिए गए । 

उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि राज्य में कुल 25 लाख में से आधे से ज्यादा मतदाताओं को इस योजना से लाभ मिला और हर परिवार में औसत चार सदस्य होते है । त्रिपुरा और मेघालय में अगले साल फरवरी में चुनाव होने हैं । देब ने कहा, केंद्र सरकार की उज्जवला जैसी कल्याणकारी योजनाओं की सफलता हमारे अहम मुद्दों में से एक होगी । हमारा दूसरा मुद्दा वाम दल का भय का शासनकाल है । लोग हमारे साथ हैं। 

उन्होंने उम्मीद जताई अगले माल राज्य में उनकी पार्टी पहली बार सरकार बनाएगी । उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह राज्य में पार्टी के अभियान को मजबूत करने के लिए इस महीने दो रैलियां कर सकते हैं और प्रधानमंत्री के अगले महीने वहां जाने की संभावना है । 

त्रिपुरा की वाम सरकार को लंबे समय तक रही अराजकता की स्थिति के बाद शांति स्थापित करने का श्रेय दिया जाता है और उमके मुख्यमंत्री माणिक सरकार की 19 साल के नेतृत्व के दौरान साफ़ छवि रही है। बहरहाल, देब ने कहा कि माणिक सरकार के बारे  में सकारात्मक धारणा चालाक मार्केटिंग का नतीजा है। 

उन्होंने कहा कि एक प्रधानाचार्य को उसके स्कूल के प्रदर्शन के आधार पर परखा जाना चाहिए ना कि वह कैसा लगता है, इस आधार पर । उन्होंने वाम मोर्चे की सरकार पर राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ हिंसा करने का आरोप लगाते हुए कहा, हमारे तीन आदिवासी नेताओं को मार दिया गया ।