महाराष्ट्र में भाजपा का साथ छोड़कर शिवसेना ने एनसीपी व कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की ठान ली है। लेकिन इसी बीच भाजपा ने बड़ा दे दिया है और कहा है कि कर्नाटक की तरह ही महाराष्ट्र में भी यह सरकार जल्द ही गिर जाएगी। इसके बाद भाजपा के गठनबंधन वाली ही सरकार बनेगी। आपको बता दें कि करीब डेढ़ साल पहले कर्नाटक में जिस तरह सत्ता का खेल खेला गया, महाराष्ट्र में भी लगभग उसी तरह कर्नाटक पार्ट-2 दोहराया गया। जिस तरह बीजेपी के वीएस येदियुरप्पा को सत्ता से हटाने के लिए धुरविरोधी कांग्रेस और जेडीएस ने हाथ मिलाया, ठीक उसी तरह महाराष्ट्र में भी बीजेपी को सत्ता से दूर रखने के लिए शिवसेना-राकांपा और कांग्रेस एकजुट हो गई हैं। इसके कारण मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को 80 घंटे के भीतर अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा।

अब भाजपा नेताओं का कहना है कि कर्नाटक की तरह महाराष्ट्र में भी बेमेल गठबंधन बना है। इस तरह की सरकारों की उम्र लंबी नहीं होती। इसकी भविष्यवाणी खुद मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देते हुए देवेंद्र फडणवीस ने की थी। शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि तीन पहियों वाली सरकार ज्यादा दिन नहीं टिकेगी, क्योंकि सभी पहियों की दिशाएं अलग-अलग होंगी, उनकी विचारधाराएं अलग-अलग हैं।

बीजेपी के एक नेता का कहनाहै कि कांग्रेस ने महाराष्ट्र की तरह ही भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए कर्नाटक में एक प्रयोग किया था जो पूरी तरह से विफल रहा। उसी तरह का प्रयोग उन्होंने राकांपा के साथ मिल कर महाराष्ट्र में किया है, जिसे उद्धव ठाकरे नहीं समझ पाए। इसका अंजाम उद्धव और शिवसेना को भुगतना पड़ेगा। पूर्व मंत्री राम शिंदे ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह मतलबी सरकार बन रही है, ऐसी सरकारों की लंबी उम्र नहीं होती। हमें विश्वास है कि बीजेपी जल्द वापसी करेगी।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360