असम प्रदेश कांग्रेस समिति के उपाध्यक्ष तथा मीडिया विभाग के अध्यक्ष प्रघुत बरदलै ने आज भारतीय जनता पार्टी ( भाजपा) व सरकार पर सीधा हमला करते हुए कहा कि जबसे केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनी है तब से आज तक असम को बाढ़ नियंत्रण तथा राहत व बचाव कार्यं के लिए मिलने वाली राशि में भारी कटौती कर दी है ।

यहां तक कि प्रदेश को मिलने वाला हिस्सा भी कम कर दिया गया । जबकि डोनर मंत्री जीतेंद्र, नितिन गडकरी समेत प्राय: सभी मंत्री असम को अधिक राशि देने का झूठा प्रचार कर रहे हैं । अगर भाजपा सरकार के पिछले चार साल के कार्यकाल को मुड़ कर देखे तो पता चलता है कि सरकार की योजनाएं जमीनी स्तर पर दम तोड़ रही हैं  और सरकार  उसके बारे में सिर्फ झूठे प्रचार-प्रसार के जरिए जनता को भ्रमित कर रही है । 

झूठा प्रचार करना अब भाजपा के डीएनए में शामिल हो गया है । राजीव भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन के दौरान बरदलै ने कहा कि केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र सिंह व नितिन गडकरी ने असम की जनता से काफी वादे किए लेकिन आज एक भी योजना ठीक से नहीं चल रही है । 

यहां तक ब्रदृमपुत्र का खनन व दोनों तरफ सड़क बनाने का कार्यं एक महीने बाद ही बंद कर दिया गया । उन्होंने प्रधानमंत्री को सीधे निशाने पर लेते हुए कहा कि मोदी प्रधानमंत्री बनते ही कांग्रेस के दिनों में चल रही योजनाओं को नए तरीके से पैकेजिंग कर उसका नाम तो बदल दिया, लेकिन उसका काम सही तरीके से नहीं किया जा रहा है ।

 वस्तु एवं सेवा  कर ( जीएसटी) पर उन्होंने कहा कि केंद्र की और से राज्यों को आश्वासन दिया गया था, कि जिन राज्यों में उद्योग नहीं है और जीएसटी लागू होने के बाद होने वाले नुकसान की भरपाई केंद्र करेगी । जीएमटी से राज्य का राजस्व संग्रह काफी घट गया है एवं केंद्र से मिलने वाला हिस्सा भी नहीं दिया गया है ।