अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) (BJP) ने शुक्रवार को यहां अपनी राज्य कार्यकारिणी की बैठक में राज्य के लिए एक अलग अखिल भारतीय सेवा कैडर (All India Service Cadre) बनाने को लेकर केंद्रीय नेतृत्व से संपर्क करने से संबंधित एक प्रस्ताव पारित किया है। पार्टी सूत्रों ने शनिवार को यहां यह जानकारी दी। 

प्रदेश भाजपा ने अरुणाचल प्रदेश के नामकरण की 50वीं वर्षगांठ राज्य भर में पूरे धूमधाम के साथ मनाने का भी संकल्प लिया। आगामी 20 जनवरी से शुरू होने वाले महीने भर के कार्यक्रम का समापन अरुणाचल प्रदेश के स्थापना दिवस (Arunachal Pradesh Foundation Day) के अवसर पर 20 फरवरी को होगा। वर्तमान में, अखिल भारतीय सेवाओं में एक प्रमुख और संयुक्त कैडर - एजीएमयूटी कैडर अरुणाचल प्रदेश में काम कर रहा है। राज्य भाजपा कार्यकारी समिति ने केंद्रीय नेतृत्व से अरुणाचल प्रदेश के लिए अलग अखिल भारतीय सेवा कैडर देने की प्रक्रिया में तेजी लाने का अनुरोध किया। 

ज्ञातव्य है कि 2017 की राज्य कार्यकारिणी की बैठक में भी यही प्रस्ताव पारित किया गया था और उसके बाद उसी वर्ष राज्य विधानसभा में इसे अपनाया गया था। बैठक में मुख्यमंत्री पेमा खांडू (Chief Minister Pema Khandu), उपमुख्यमंत्री चाउना मीन (Deputy Chief Minister Chowna Mein), भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं अरुणाचल प्रदेश के प्रभारी दिलीप सैकिया, सांसद नबाम रेबिया (आरएस) और तापीर गाओ (एलएस) ने हिस्सा लिया। बैठक में कई मंत्रियों, विधायकों और अन्य ने अरुणाचल प्रदेश के लिए अलग अखिल भारतीय सेवा कैडर की मांग दोहरायी जिसमें आईएएस, आईपीएस और आईएफएस शामिल हों।