असम के चरार्इदेव जिले में भाजपा समिति के साधारण संपादक लखीनाथ तासा को धन गबन के आरोप में संपादक पद से हटा दिया गया है। हालांकी उनकी सदस्यता बरकरार रखी गई है। इस बात की जानकारी चराईदेव जिला भाजपा सभापति राखाल कुमार ने एक पत्र के माध्यम से दी।

मिली जानकारी के मुताबिक आजीवन सहयोग निधि के तहत संग्रहित 97 हजार रुपए जिला साधारण संपादक लखीनाथ तासा के पास जमा थे। जिसे कर्इ बार पार्टी के पास जमा कराने का निर्देश दिया गया। लेकिन तासा ने उस धन को पार्टी के पास जमा नहीं करवाया। धन जमा न होने पर जिला सभापति ने उन्हें एक सप्ताह का समय आैर दिया। फिर भी तासा ने धन जमा नहीं करवाया।
जिसकी शिकायत राजकीय समिति के पास की गर्इ। शिकायत करने के बाद असम प्रदेश भाजपा के साधारण संपादक दिलीप सैकिया ने उन्हें पद से हटाने का निर्देश दिया। सैकिया के निर्देश के बाद चराईदेव जिला समिति सभापति राखाल कुमार ने उन्हें 20 जुलाई को एक पत्र में तासा को पद से हटाने की घोषणा की ।
उल्लेखनीय है कि भाजपा भ्रष्टाचार मुक्त सरकार का स्लोगन देती रही है, लेकिन दल का जिला संपादक ही धन गबन मे शामिल होकर दल की छवि खराब कर रहा है। संपादक पद से हटाए गए लखीनाथ तासा जोरहाट लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद कामख्या प्रसाद तासा का रिश्ते में भाई है, जिससे सांसद तासा की छवि पर भी  कुछ विपरीत असर पड़ सकता हैं।