चीन से फैला कोरोना वायरस से इन दिनों कई मुल्कों में इसके संक्रमण से मौत के मामले सामने आ चुके हैं। भारत भी इससे बचाव के उपाय पर विचार कर रहा है। इसी बीच असम से बीजेपी नेता का एक अजीबोगरीब दावा सामने आया है। उनका दावा कोरोना वायरस के खतरे के बीच चर्चा का केंद्र बनता नजर आ रहा है।


दरअसल असम विधानसभा में बांग्लादेश में गायों की तस्करी पर परिचर्चा चल रही थी। इसमें हिस्सा लेते हुए बीजेपी नेता सुमन हरिप्रिया ने अजीबोगरीब दावा किया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस हवा जनित बीमारी है जिसका इलाज गौमूत्र और गोबर से संभव है। उन्होंने दावा कि चीन की हवा अशुद्ध है।


इसलिए कोरोना वायरस से बचने के लिए चीन को अपने देश की हवा को शुद्ध करने के लिए 'हवन' करना चाहिए। उन्होंने प्राचीन काल के हवाले से बताया कि ऋषि मुनि गोबर का इस्तेमाल कर हवन करते थे। जिससे 5 किलोमीटिर के दायरे में हवा शुद्ध हो जाती थी. उन्होंने दावा किया गौमूत्र और गोबर में औषधीय गुण होते हैं।


उन्होंने कहा कि ऋषि मुनि प्राचीन समय में गाय आश्रम में रखकर हजारों साल जीवित रहते थे। ऐसा इसलिए संभव होता था क्योंकि ऋषि मुनि गौमूत्र, दूध, शहद के जरिए पंचअमृत तैयार करते थे। जिसके सेवन से बीमारियों का इलाज किया जाता था। उन्होंने गोबर के कुछ और गुण बताते हुए कहा कि कैंसर की बीमारी में गोबर, गौमूत्र को उपचार के लिए अपनाया जा सकता है।


सुमन हरिप्रिया हाजो विधानसभा सीट से बीजेपी के टिकट पर जीतकर विधानसभा सदस्य बननेवाली युवा नेता हैं। इन दिनों चीन का वुहान शहर कोरोना का केंद्र बना हुआ है। चीन में वायरस के चलते 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360