इस समय राजस्थान में कांग्रेस सरकार संकट में आ चुकी है ठीक उसी समय भाजपा पश्चिम बंगाल में काफी दुखी हो चुकी है। क्योंकि पश्चिम बंगाल में बीजेपी विधायक देवेंद्र नाथ रॉय की मौत पर राजनीति शुरू हो गई है। बीजेपी इस संदेहास्पद मौत को हत्या बता रही है। वहीं राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी विधायक की मौत पर सवाल उठाए हैं। साथ ही सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए इसे प्रतिशोध की राजनीति बताया है। बता दें कि उत्तर दीनाजपुर के हेमताबाद से बीजेपी विधायक देवेंद्र नाथ रॉय का रस्सी से लटकता शव उनके गांव से मिला था।
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर इसे हत्या करार दिया। नड्डा ने ट्वीट किया, 'पश्चिम बंगाल के हेमताबाद से बीजेपी विधायक देवेंद्र नाथ रे की संदिग्ध जघन्य हत्या बेहद हैरान करने वाली और खेदजनक है। यह ममता सरकार के गुंडाराज और फेल कानून व्यवस्था को बताता है। लोग ऐसी सरकार को भविष्य में माफ नहीं करेंगे। हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं।'
वहीं पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने लिखा, 'ममता बनर्जी की राजनीतिक हिंसा और प्रतिशोध के खत्म होने के कोई संकेत नहीं दिख रहे हैं। उत्तर दीनाजपुर के हेमताबाद से विधायक देवेंद्र नाथ रे की मौत से हत्या के आरोप समेत कई गंभीर सवाल उठते हैं। सच्चाई को उजागर करने और राजनीतिक हिंसा को खत्म करने के लिए पूरी तरह निष्पक्ष जांच की जरूरत है।'
इससे पहले पश्चिम बंगाल बीजेपी ने कहा, 'उत्तर दीनाजपुर की रिजर्व सीट हेमताबाद से बीजेपी विधायक देवेंद्र नाथ रे का शव उनके गांव के बिंदल में लटका हुआ मिला। पार्टी ने आगे कहा, 'लोगों में इस बारे में स्पष्ट राय है कि उन्हें पहले मारा गया और फिर लटका दिया गया।'
देवेंद्र का शव उनके गांव में रस्सी से लटका हुआ मिला। पश्चिम बंगाल बीजेपी इसे हत्या बता रही है। बता दें कि देवेंद्र रे पिछले साल ही सीपीएम से बीजेपी में शामिल हुए थे। उन्होंने लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी की सदस्यता ली थी।