देश में कोरोना वायरस संक्रमण से हाहाकार मचा है। लगातार संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है। हर रोज रिकॉर्ड तोड़ मामले पूरी दुनिया में सबसे अधिक भारत में दर्ज हो रहे हैं। बुधवार को कुल संक्रमितों की संख्या चार लाख के करीब दर्ज की गई है जबकि 3500 से अधिक रिकॉर्ड मौतें हुई है। कोरोना के दूसरी लहर में लगातार देश की स्वास्थ्य व्यवस्था लचर होता जा रहा है। लोगों को अस्पताल से लेकर बेड और ऑक्सीजन-दवाई तक नसीब नहीं हो पा रहा है। तड़प-तड़पकर लोग अस्पताल के बाहर जान गंवाने को मजबूर हैं। कोई सुध लेना वाला तक नहीं है।

लेकिन, इसमें सिर्फ आम लोग नहीं शामिल है। विधायक से लेकर सांसद तक को अव्यवस्था की फैली तस्वीरों से सामना करना पड़ रहा है। उत्तर प्रदेश भाजपा से विधायक केसर सिंह गंगवार का कोरोना से निधन हो गया। वो बरेली के नवाबगंज सीट से विधायक थे। उनका नोएडा के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। आरोप ये भी है कि उनके परिजन आईसीयू बेड के लिए गुहार लगाते रहे लेकिन नहीं मिला।

कुछ महीने पहले जब देश कोरोना संक्रमण के पहली लहर से जुझ रहा था तब से ही लगातार स्वास्थ्य विभाग और देश के जाने-माने एक्सपर्ट्स और डॉक्टर मास्क लगाने की सलाह दे रहे हैं। केंद्र लगातार लोगों से मास्क लगाने और सामाजिक दूरी बनाए रखने की अपील कर रही है।

लेकिन, विधानसभा सत्र के दौरान ये विधायक बिना मास्क के आते-जाते दिखाई दिए थे। आज तक के एक वीडियो में वो साफ-साफ दिखाई दे रहे हैं। जिसमें रिपोर्टर पूछता है कि आपने मास्क क्यों नहीं लगाया है। तो वो कहते हैं, "मास्क क्यों लगाना..कोविड रखा कहां है अब?" और उनकी मौत कोरोना के संक्रमण से बुधवार को हो गई। अब तक भाजपा के तीन विधायकों की मौत हो चुकी है।

हमें कोरोना संक्रमण से बचने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताई जा रही नियमों का पालन करने की जरूरत नहीं। वरना, ये महंगा पड़ सकता है। सावधान रहें!, सतर्क रहें, मास्क का इस्तेमाल करें और कोरोना नियमों को फॉलो करें।