उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Assembly Elections) में तीसरे चरण का मतदान आज हो रहा है। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री व सपा मुखिया आखिलेश यादव (akhilesh yadav) ने इटावा के सैफई में अपने परिवार के साथ वोट डाला है। पत्नी डिंपल (Dimpal yadav) भी मौजूद रही। उन्होंने कहा कि भाजपा को कोई काम अच्छा नहीं करना है। अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) (BJP) के सभी नेता झूठ बोलते हैं। इस पार्टी ने अभी तक कोई अच्छा काम नहीं किया है। सबसे ज्यादा असुरक्षित महिलाएं और बेटियां यूपी में है।

ये भी पढ़ें

साइकिल का बटन दबाने पर निकली कमल वाली पर्ची, UP Election में मच गया बवाल


उन्होंने कहा कि आतंकी कोई हो उसे कड़ी से कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। पहले दो चरणों में सपा ने शतक लगा लिया है। इस बार भाजपा का पूरे प्रदेश से सफाया होने जा रहा है। किसान भाजपा को माफ नहीं करेगी। कहा कि गोरखपुर में मेडिकल कालेज (Medical Colleges in Gorakhpur) को वो सुविधाएं क्यों नहीं दी जो पीजीआई को मिली है। बाबा मुख्यमंत्री ने कोई अच्छा काम नहीं किया है। उन्होंने कहा कि बाबा मुख्यमंत्री ने झूठी तस्वीरे लगाई। एअरपोर्ट में चीन की फोटो कहीं कुछ लगा देते है। यह पार्टी सबसे बड़ी झूठी है। इनके हर नेता झूठ ही बोलते हैं।

ये भी पढ़ें

यूपी चुनाव 2022: 16 जिलों की 59 विधानसभा सीट पर मतदान आज, अखिलेश यादव सहित सहित 627 उम्मीदवारों की दांव पर किस्मत

इस दौरान मौजूद उनके चचरे भाई अनुराग यादव की पत्नी अभिलाषा यादव (Abhilasha Yadav) ने कहा कि अखिलेश यादव विकास पुरूष हैं। उन्होंने इतने अच्छे काम किये हैं कि उनकी सरकार बनने जा रही है। भाजपा को डबल डिजिट में आना मु़िश्कल है। लालू प्रसाद यादव की बेटी और मुलायम की बहू राज लक्ष्मी ने कहा कि इस चुनाव में भाजपा का सफाया होगा। इस बार समाजवादी पार्टी (SP In UP) सरकार बनाने जा रही है। वहां पर मौजूद परिवार के सदस्यों ने एक सुर में कहा कि भाजपा का यूपी से सफाया होने जा रहा है। इससे पहले समाजवादी पार्टी परिवार में विवाद के लम्बे अंतराल के बाद पार्टी के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव राज्यसभा सदस्य प्रोफेसर राम गोपाल यादव और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव लम्बे समय बाद एकसाथ दिखे। रामगोपाल यादव और शिवपाल सिंह यादव ने इटावा सपा के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने सैफई के अभिनव विद्यालय मतदान केन्द्र पर अपना-अपना वोट डाला। इसी दौरान प्रोफेसर रामगोपाल यादव और प्रसप प्रमुख शिवपाल सिंह यादव की भेंट भी हो गई। इस दौरान शिवपाल सिंह यादव ने प्रोफेसर रामगोपाल यादव के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया। लम्बे समय बाद इनकी मुलाकात को लेकर क्षेत्र में काफी चर्चा भी है।