रंगापाड़ा । चारद्वार थानांतर्गत बालीपाड़ा के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के अमीय भवन कक्ष में सुबह करीब 11 बजे पूर्व सदौ असम छात्र संघ आंदोलनकारी के सैकडों सदस्यों ने नागरिक संशोधन विधेयक को लेकर सरकार की भर्त्सना करते हुए एक बृहद समारोह का आयोजन किया । 

मालूम हो कि उक्त सभा में पूर्व आंदोलनकारियों ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि असम समझौता के अनुसार 1971 के 25 मार्च के बाद असम में आए हिंदू हो या मुस्लिम यह राज्य छोड़कर जाना ही होगा । लेकिन वर्तमान राज्य सरकार हिन्दू बांग्लादेशियों को लेकर वोट बैंक की जो राजनीती  करना चाहती है, वह हम कभी फलीभूत होने नहीं देंगे ।

 पहले मुस्लिम को लेकर कांग्रेस की वोट बैंक बनाने की परिकल्पना थी, आज भाजपा हिंदू बांग्लादेशियों को लेकर वोट बैंक बनाने के फिराक में है, जो हम आंदोलनकारी  855 शहीदों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देंगे । आंदोलनकारियों ने आगे कहा कि विधायक शिलादित्य अपने कटु मंतव्य देकर असम के बंगालियों को उत्तेजित कर रहे हैं यह कटु बचन देने की कोशिश न करें, क्योंकि वह असम के निवासी है ।

उक्त सभा में सर्बानंद सोनोवाल, हिमंता बिस्वा सरमा , राजेन गोहाई को चेतावनी देकर कहा कि असम के असमिया जाति के अस्तित्व को ध्यान में रखें । वक्ताओं ने कहा कि अगर यही स्थिति रही तो आगामी समय यह नागरिकता संशोधन विधेयक 2016 को लेकर राज्य की जनता के हित को लेकर केंद्रीय सभा का आयोजन किया जाएगा । आज की सभा के पूर्व शहीद वीर को श्रद्धांजली दी गई ।