असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने सोमवार को कहा कि भाजपा ने यह फैसला नहीं किया है कि वह राज्य विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम की घोषणा करेगी अथवा नहीं? साथ ही उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तरुण गोगोई पर बयान देकर विवाद पैदा करने का आरोप भी लगाया। 

तरुण गोगोई ने दावा किया था कि पूर्व प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई अगले साल असम विधानसभा चुनाव में भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हो सकते हैं। रंजन गोगोई को मार्च में सरकार ने राज्यसभा के लिए नामित किया था। 

सरमा ने कहा कि पूर्व प्रधान न्यायाधीश अब तक भाजपा के सदस्य तक नहीं हैं और राष्ट्रपति ने उन्हें राज्यसभा के लिए नामित किया था। गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में प्लाज्मा दान शिविर के कार्यक्रम से इतर मंत्री ने संवाददाताओं से यह बात कही। 

उन्होंने कहा, 'पूर्व मुख्यमंत्री को संदर्भ से बाहर के लोगों का नाम लेने और अनावश्यक विवाद पैदा करने की आदत है।'