असम के वित्त मंत्री हिमंता बिस्व सरमा ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए दावा किया कि भाजपा असम में 6 लोकसभा सीटें पहले ही जीत चुकी है। सरमा ने कहा, लड़ाई सिर्फ चार सीटों के लिए है जहां भाजपा का सामना कांग्रेस व एआईयूडीएफ की संयुक्त ताकत से है। अन्य 6 लोकसभा सीटों के लिए पोलिंग सिर्फ औपचारिकता है। हम पहले ही ये सीटें जीत चुके हैं। तेजपुर और डिब्रूगढ़ में पोलिंग सेलिब्रेशन
की तरह होगी।

आपको बता दें कि असम में लोकसभा की कुल 14 सीटें हैं। भाजपा 10 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि उसने अन्य चार सीटें सहयोगी दलों के लिए छोड़ी है। असम गण परिषद कलियाबोर, धुबरी और बारपेटा पर चुनाव लड़ रही है जबकि बीपीएफ कोकराझार से। बीपीएफ ने प्रमिला रानी ब्रह्मा को कोकराझार से पार्टी का उम्मीदवार घोषित किया है। राज्य की 14 लोकसभा सीटों के लिए तीन चरण में मतदान होगा। पिछले चुनाव में भाजपा ने 7 सीटें जीती थी जबकि कांग्रेस व एआईयूडीएफ के खाते में 3-3 सीटें गई थी। इस बार एआईयूडीएफ सिर्फ तीन सीटों पर चुनाव लड़ रही है। ये तीनों सीटें मुस्लिम बहुल है।

आपको बता दें कि 30 मार्च को प्रधानमंत्री के असम दौरे से पहले हिमंता बिस्व सरमा ने बिश्वनाथ के गोहपुर का दौरा किया। प्रधानमंत्री अपने एक दिवसीय दौरे के दौरान दो जनसभाओं को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी गोहपुर जो लखीमपुर संसदीय क्षेत्र में पड़ता है और मोरान जो डिब्रूगढ़ संसदीय क्षेत्र में पड़ता है में जनसभाओं को संबोधित करेंगे। सरमा ने दावा किया कि भाजपा अरुणाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भी जीत दर्ज करेगी। बकौल सरमा, भाजपा निश्चित रूप से अरुणाचल प्रदेश में सरकार बनाएगी। हमने दो सीटें निर्विरोध जीत ली है। भाजपा अरुणाचल में ऐतिहासिक जीत की ओर अग्रसर है।