नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ देशभर में जारी हिंसक विरोध प्रदर्शन के बीच सरकार ने इशारा किया है कि फिलहाल एनआरसी को ठंडे बस्ते में डाला जा सकता है। सरकार इसको लेकर जल्दबाजी के मूड में नहीं है। दरअसल, एक सरकारी विज्ञापन में सरकार की तरफ से साफ-साफ कहा गया है कि, अगर कभी इसकी(एनआसी) घोषणा की जाती है, तो ऐसी स्थिति में नियम और निर्देश ऐसे बनाए जाएंगे ताकि किसी भी भारतीय नागरिक को परेशानी न हो।

सरकार के इस विज्ञापन से साफ इशारा मिलता है कि फिलहाल एनआरसी को ठंडे बस्ते में डालने की तैयारी है। आप को बता दें की नागरिकता संशोधन बिल को लेकर सबसे ज्यादा विरोध प्रदर्शन असम, त्रिपुरा व मेघालय में देखी गई है। यहां कई दिनों से इंटरनेट सेवा बाधित थी जिससे सुप्रिम कोर्ट को आदेश के बाद इसे चालू किया गया है।