नई दिल्ली। कांग्रेस (congress) ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया है और वहां के कश्मीरी पंडितों (Kashmiri Pandits) की पीड़ा को फिल्मों के हवाले बयां करने पर ही छोड़ दिया है। 

कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मंगलवार यहां जारी एक बयान में कहा प्रधानमंत्री बापू के आदर्शों से लेकर कश्मीरी पंडितों के दर्द तक सब कुछ फिल्मों के जिम्मे छोड़ देना चाहते हैं और तथ्यों व सच्चाई से मुंह फेर कर सिर्फ जिम्मेदारियों से पल्ला झाडऩे का प्रयास करते हैं। 

यह भी पढ़ें- इंडियन आर्मी को मिली बड़ी कामयाबी, इस आतंकवादी संगठन को दिया तगड़ा झटका, जानिए कैसे

उन्होंने कहा कि भाजपा के पितृ संगठन 1925 से लेकर 1947 के स्वतंत्रता आंदोलन तक बापू के खिलाफ खड़ा रहा और 'सविनय अवज्ञा' तथा 'भारत छोड़ो' आंदोलन तक हर बार अंग्रेजों के साथ खड़ा रहा। 

यह भी पढ़ें- ग्लोबल वार्मिंग में सिक्किम का योगदान भारत मे सबसे अधिक, आईपीसीसी की रिपोर्ट ने मचाई खलबली

प्रवक्ता ने कहा कि मोदी आज पंडितों के दर्द की बात करते हैं लेकिन उन्हें बताना चाहिए कि जब सन् 1990 में कश्मीरी पंडित आतंक और बर्बरता के साये में पलायन को मजबूर हुए तब भाजपा के 85 सांसद, जिनके समर्थन से केंद्र की वी.पी. सिंह सरकार चल रही थी, क्या कर रहे थे। तब मुख्यमंत्री को हटाकर भाजपा ने के बिठाए राज्यपाल ने सुरक्षा देने की बजाय कश्मीरी पंडितों को पलायन के लिए क्यों उकसाया।