बीजेपी के वरिष्ठ नेता और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का निधन हो गया। स्वर्गीय सिंह की तबियत पिछले कुछ दिनों से ठीक नहीं थी। शनिवार रात उनका निधन हो गया। पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की अंतिम इच्छा थी कि उनके निधन के बाद शरीर को बीजेपी के झंडे में लपेटा जाए। रविवार को उनकी यह अंतिम इच्छा पूरी हो गई।

दरअसल, स्वर्गीय सिंह का पार्थिव शरीर प्रदेश बीजेपी कार्यालय लाया गया। इस दौरान बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री सुनील बंसल ने स्वर्गीय सिंह के पार्थिव शरीर पर तिरंगे के साथ पार्टी का झंडा भी लपेटा। इससे पहले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए लखनऊ स्थित उनके आवास पर लाया गया। अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर विधान भवन और बीजेपी कार्यालय में रखा गया।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने लखनऊ पहुंचकर कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन कर श्रद्धांजलि दी। जबकि इसके अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई बड़े नेताओं ने स्वर्गीय सिंह को श्रद्धांजलि दी। इससे पहले उनका पार्थिव शरीर एयर एंबुलेंस से शाम पांच बजे के करीब धनीपुर मिनी एयरपोर्ट लाया गया। जबकि इससे एक घंटे पहले राज्यमंत्री संदीप सिंह अपनी बड़ी बहन पूर्णिमा सिंह, छोटी बहन श्वेता सिंह, कल्याण सिंह की पत्नी रामवती और छोटे भाई सौरभ सिंह के साथ हेलीकॉप्टर से आए थे।