स्विस बैंक (swiss bank) से हुए डेटा लीक में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है, जिसमें करीब 1400 पाकिस्तानी नागरिकों से जुड़े 600 खातों के बारे में पता चला है। एक रिपोर्ट के अनुसार क्रेडिट सुइस में खोले गए 600 खातों से पाकिस्तान के करीब 1,400 व्यक्तियों का जुड़ाव सामने आया है। डेटा में उन खातों की जानकारी भी है, जो अब बंद हो चुके हैं लेकिन अतीत में चालू रहे हैं।

ये भी पढ़ें

पीलीभीत में भाजपा के दिग्गज नेता अमित शाह ने कर दिया ऐसा बड़ा ऐलान, उड़ेंगे अखिलेश यादव के होश, जानिए कैसे

रिपोर्ट के अनुसार, कई राजनीतिक व्यक्तियों ने ऐसे समय में अपने खाते खोले, जब वे सार्वजनिक कार्यालय की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। पाकिस्तान के चुनाव आयोग (Election Commission of Pakistan) को प्रस्तुत अपनी संपत्ति की घोषणा में कई राजनीतिक रूप से पहचाने जाने वाले व्यक्तियों ने इन खातों के बारे में कभी खुलासा नहीं किया, जो उन्होंने उस समय खोले थे जब वे सार्वजनिक पद पर थे। एक पाकिस्तानी द्वारा बैंक में रखे गए सबसे अमीर खातों में से एक का स्वामित्व भी एक राजनीतिक रूप से उजागर व्यक्ति के पास था।

ये भी पढ़ें

अब नहीं बचेगा यूरोप का ये दूसरा सबसे बड़ा देश! कभी भी हमला कर सकता है रूस

डेटा में वर्तमान में पाकिस्तान में जांच के तहत कुछ मामलों के विवरण भी शामिल हैं, जहां जांचकर्ताओं को जांच के तहत संपत्ति के बारे में गलत जानकारी दी गई थी। जबकि कई लोग मानते हैं कि फर्जी खातों की घटना पाकिस्तानी बैंकों (Pakistani Banks) तक सीमित है, वहीं यह सामने आया है कि पाकिस्तानियों ने बैंक की उचित तत्परता के अभाव में अपने प्रॉक्सी के नाम पर खाते खोलने के लिए क्रेडिट सुइस का भी इस्तेमाल किया है। पाकिस्तानियों के खातों में औसत अधिकतम बकाया 4.42 मिलियन स्विस फ्रैंक (Swiss Franc) (स्विट्जरलैंड की मुद्रा) था। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तानियों द्वारा उपयोग में लाए गए खातों में औसत अधिकतम शेष राशि 4.42 मिलियन स्विस फ्रैंक (841 मिलियन रुपये) थी, जो लीक हुए डेटा के समग्र औसत की तुलना में 7.5 मिलियन स्विस फ्रैंक (1.42 अरब रुपये) थी।

ये भी पढ़ें

जब टीम इंडिया के खिलाड़ी ऋद्धिमान साहा को मिली धमकी, तो बौखलाए गए रवि शास्त्री, गांगुली से कर दी ये मांग

रिपोर्ट में कहा गया है कि डेटा में पाए गए लगभग 200 ग्राहकों की राशि 100 मिलियन स्विस फ्रैंक (Swiss Franc) (19 अरब रुपये) से अधिक है और एक दर्जन से अधिक के खातों में अरबों की राशि बताई गई है। स्विट्जरलैंड में पंजीकृत एक निवेश बैंकिंग फर्म क्रेडिट सुइस (banking firm Credit Suisse) से लीक हुए आंकड़ों ने 128 देशों में इसके धनी ग्राहकों की छिपाई गई धनराशि का पर्दाफाश किया है। इसमें राजनीतिक व्यक्तियों से लेकर व्यापारिक व्यक्ति भी शामिल हैं। आर्थिक संकट की मार और बढ़ती महंगाई की वजह से पाकिस्तान के हालात बेहद नाजुक हैं, लेकिन इस देश में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनके पास अवैध रूप से अर्जित की गई बेशुमार दौलत है और यह स्विस बैंक में जमा है। अब नए डेटा लीक ने आर्थिक रूप से कंगाली की हालत में खड़े पाकिस्तान में खलबली मचा दी है।