केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह छत्तीसगढ़ के लिए रवाना हो गए हैं, वह छत्तीसगढ़ के शहर बीजापुर में भारतीय सैनिकों पर हुए नक्सली हमले का संज्ञान लेंगे। वह शहीद सैनिकों को अपनी श्रद्धांजलि देंगे, इस बीच घायल सैनिकों से भी मिलेंगे।

बता दें कि नक्सलियों के हमले में 22 जवानों के शहीद हुए हैं। इससे पहले उन्होंने कहा कि उग्रवादियों के खिलाफ लड़ाई केन्द्र और राज्य सरकारों के सम्मलित प्रयासों से जीती जाएगी। शाह ने नक्सलियों के हमले के बाद पैदा हुए हालात की उच्च सुरक्षा अधिकारियों के साथ समीक्षा की। 

असम में चुनावी दौरे को बीच में ही छोड़कर दिल्ली लौटे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘हमारे जवानों ने शहादत दी है। हम इस खून-खराबे को बर्दाश्त नहीं करेंगे और उचित वक्त आने पर मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।’ 

शाह ने कहा कि मुठभेड़ के बाद छत्तीसगढ़ में तलाश अभियान जारी है। उन्होंने कहा कि सरकार शांति और प्रगति के ऐसे दुश्मनों के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेगी। केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘नक्सलियों के साथ हमारी लड़ाई ताकत के साथ जारी रहेगी और हम इसे मुकाम तक पहुंचाएंगे।’