महंगे पेट्रोल-डीजल बिहार में युवाओं की एक टीम ने देश को राहतभरी खबर दी है। बिहार के कुछ युवाओं ने पेट्रोल डीजल और पर्यावरण प्रदूषण इन दोनों समस्याओं का समाधान एक साथ निकाल लिया है। क्योंकि उन्होंने प्लास्टिक कचरे से ईंधन (fuel from plastic waste) तैयार किया है।

बिहार के मुजफ्फरपुर के युवाओं की एक टीम ने फेंके जाने वाले प्लास्टिक कचरे से पेट्रोल और डीजल (petrol diesel from plastic waste) तैयार किया है। इसके लिए मुजफ्फरपुर के खरौना गांव में एक प्लांट शुरू हो गया है। इस प्लांट पर 8 युवाओं की टीम ने मिलकर प्लास्टिक कचरे से बायो पेट्रोल और डीजल बनाने का काम शुरू किया है। इस टीम का नेतृत्व भारतीय सांख्यिकी संस्थान (ISI Delhi) के छात्र आशुतोष मंगलम के हाथों में हैं।
प्लास्टिक कचरे से पेट्रोल और डीजल बनाने वाली इस टीम में शिवानी, सुमित कुमार, अमन कुमार और मोहम्मद हसन आदि शामिल हैं। उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर 2019 में इस टेक्नोलॉजी का ट्रायल किया था और सफलता मिलने पर 2020 में इसका पेटेंट कराया।