बिहार में लौट रहे मजदूरों के टिकट के पैसे को लेकर राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसी कड़ी में अब जनता दल (युनाइटेड) और आम आदमी पार्टी भी आमने-सामने आ गई हैं। बिहार के मंत्री संजय कुमार झा ने दिल्ली सरकार पर मजदूरों को भेजने का पैसा मांगने का आरोप लगाया है।

झा ने ट्वीट कर आप नेता पर सफेद झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए लिखा, ‘‘अरविंद केजरीवाल जी! झूठ के साथ समस्या यही है कि आप भूल जाते हैं कि कब क्या बोल चुके हैं? अब देखिए न, आपके मंत्री गोपाल राय ट्विटर पर सफेद झूठ बोल रहे हैं कि दिल्ली से मुजफ्फरपुर आनेवाली ट्रेन का किराया आपकी सरकार देगी, फिर चिट्ठी भेजकर हमसे पैसे भी मांगते हैं।’’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘‘ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहले ही साफ कर चुके हैं कि हम श्रमिकों को भाड़े की रकम के अलावा 500 रुपए अतिरिक्त भी देंगे, तो दिनदहाड़े दिल्ली सरकार के मंत्री झूठ क्यों बोल रहे हैं? यह तो नीतिगत बात है, लेकिन आप कोविड-19 के समय भी इतनी ओछी राजनीति करें, शोभा नहीं देता।’’ शुक्रवार को बिहार के मुजफ्फरपुर के लिए दिल्ली से 1200 श्रमिकों को लेकर एक ट्रेन खुली। इसके बाद केजरीवाल सरकार में मंत्री गोपाल राय ने ट्वीट किया कि श्रमिकों को लेकर दिल्ली से मुजफ्फरपुर बिहार के लिए रवाना हुई ट्रेन में सवार सभी 1200 लोगों का किराया अरविंद केजरीवाल सरकार देगी। इस ट्वीट के बाद बिहार सरकार में मंत्री संजय कुमार झा की प्रतिक्रिया आई ।

इस बीच, बिहार के मंत्री झा के ट्वीट के बाद आप नेता राय ने शनिवार को माना की दिल्ली सरकार ने पैसे की मांग की थी। राय ने शनिवार को एक ट्वीट कर लिखा, ‘‘ ये सच है कि दिल्ली सरकार ने बिहार सरकार को चिट्ठी लिखा था। ये भी सच है कि कल दिल्ली सरकार ने 1,200 श्रमिकों का किराया रेलवे को देकर उन्हें मुजफ्फरपुर के लिए रवाना कर दिया, लेकिन ये भी सच है कि बिहार सरकार की तरफ से कोई जवाब नहीं आया।’’ बहरहाल, अब देखना है कि बिहार सरकार या जद (यू) नेता आप नेता को क्या जवाब देते हैं।