बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने आरोप लगाते हुए आज कहा कि नीतीश सरकार ने अपने 14 वर्ष के कार्यकाल में राज्य को विनाश के कगार पर पहुंचा दिया है। युवा राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद शैलेष कुमार उर्फ बुलो मंडल ने संवाददाताओं से बातचीत में राज्य में हो रहे उप चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) प्रत्याशियों के पराजित होने का दावा करते हुए कहा कि नीतीश सरकार ने अपने 14 वर्ष के कार्यकाल में राज्य को विनाश के कगार पर पहुंचा दिया है। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश के मतदाताओं ने नीतीश सरकार को सबक सिखाने का मन बना लिया है। मंडल ने कहा कि राजग के जनप्रतिनिधियों ने नाथनगर विधानसभा क्षेत्र की जनता को पिछले 15 वर्षों से के ठगा है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि आज राज्य और केंद्र में राजग की सरकार है। बिहार ने राजीव को 40 में से 39 सांसद दिए हैं, उसके वाबजूद बिहार का विकास ठप क्यों है। पूर्व सांसद ने कहा कि बिहार में पिछले 14 वर्ष से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार है, फिर भी भागलपुर लोकसभा क्षेत्र के लोग हर वर्ष बाढ़ और कटाव का दंश झेलने को मजबूर है। जिले के तीन लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हुए। दर्जनों गांव कटाव के कारण गंगा नदी में विलीन हो गये लेकिन सरकार के लोगो ने पीडि़तों का सुध तक नहीं ली।

मंडल ने कहा कि अपराध का ग्राफ आज चरम पर है। दिनदहाड़े अपराधी अपराध कर रहे है। लोग भय के साये में जीने को मजबूर हैं। राज्य में अपराध और अपराधी दोनों बेलगाम हो गये हैं। कानून का इकबाल खत्म हो चुका है। अपराधियों में शासन और प्रशासन का खौफ समाप्त हो चुका है। इसलिए, दिनदहाड़े हत्या, लूट और दुष्कर्म की घटनाओं को अपराधी खुलेआम अंजाम दे रहे है। राजद नेता ने कहा कि भागलपुर जिले में एक माह के अंदर दर्जनों हत्याएं हो चुकी है। जिसे रोकने में पुलिस प्रशासन पूरी तरह नाकाम साबित हुई है। नीतीश सरकार में कानून-व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विधि व्यवस्था पर समीक्षा बैठक एवं पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडे द्वारा पुलिस प्रशासन को कानून व्यवस्था को ठीक करने का निर्देश दिया जाना भी खोखला और कागजी साबित हुई है। 

मंडल ने केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार गरीब विरोधी है। यह सरकार अमीर परस्त है। यह सिर्फ अमीरों के लिए हीं काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पिछले चार सालों में 21 सरकारी बैंकों ने तीन लाख 16 हजार करोड़ रुपये के ऋण, जो अम्बानी, अडानी एवं अन्य उद्योगपतियों के लिए थे उसे मोदी सरकार ने एक झटके में माफ कर दिये। राजद नेता ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जनता को छद्म राष्ट्रप्रेम दिखाकर मूल समस्याओं से लोगों का ध्यान भटका रही है तथा देश की अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर का सपना दिखा रही है जबकि स्थिति यह है कि भारत की अर्थव्यवस्था चीन, नेपाल, बंगलादेश जैसे छोटे देशों से भी कम हो गई है। प्रत्येक वर्ष एक करोड़ नौकरियां जा रही है। यह पहली सरकार है, जो कि नौकरी देने के बजाय नौकरी छिन रही है। मौके पर युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी अरुण कुमार यादव भी मौजूद थे।