जनता दल (राष्ट्रवादी) बिहार विधानसभा चुनाव में 150 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री उम्मीदवार यादव जाति के होंगे और उपमुख्यमंत्री मुसलमान और दलित जाति से आने वाले नेता को बनाया जाएगा। पूर्व सांसद और पार्टी के प्रमुख डॉ. रंजन प्रसाद यादव ने बुधवार को पटना में एक प्रेस कांफ्रेंस में इसकी घोषणा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव में ‘एमवाई प्लस’ समीकरण के साथ 150 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बिहार में 243 विधानसभा की सीटें हैं।

डॉ. रंजन प्रसाद यादव ने पत्रकारों से बातचीत में लालू यादव और नीतीश कुमार के शासनकाल को भी निशाने पर लिया और कहा कि दोनों सरकारों ने दलित और अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के साथ घोर अन्याय किया है। उन्होंने मौजूदा सरकार पर उर्दू भाषा के साथ नाइंसाफी करने का आरोप भी लगाया।प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अशफाक रहमान ने कहा कि पार्टी पूर्व सांसद डॉ. रंजन प्रसाद के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘बिहार को एक नई दिशा देने का वक्त आ गया है। बिहार के लोगों को भरोसा और फरेब के मायाजाल में एक लंबे अरसे तक रखा गया। बिहार में अब तक सिर्फ बातें और वादा का ही सिलसिला चलता रहा। पिछले 30 सालों में सिर्फ उद्योगों को ही बर्बाद नहीं किया गया, बल्कि बिहार से शिक्षा एवं स्वास्थ्य को भी पूरी तरह नेस्तनाबूद कर दिया गया।’’ उन्होंने कहा कि राज्य में अशांति और गुंडाराज रहा, लेकिन सरकार इस पर कभी कोई ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा, ‘‘जंगलराज बनाम महाजंगलराज से मुक्ति पाने का समय 2020 है। ऐसे में डॉ. रंजन यादव के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा। बिहार विधानसभा चुनाव में एक नया शिक्षित और नेतृत्व-विकल्प जनता को दिया जा रहा है।’’ इस मौके पर राष्ट्रीय प्रवक्ता व पत्रकार ए.आर. आजाद भी उपस्थित थे।