बिहार में रघुवंश प्रसाद सिंह की चिट्ठी को लेकर लालू परिवार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया गया है। इस पत्र को लेकर जीतनराम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) ने पटना की सड़कों के किनारे कई पोस्टर लगाए हैं। जिसमें आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधा गया है।
पोस्टर में आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव को 'होटवार जेल सुप्रीमो' बताते हुए पूछा गया है, 'अपने बेटों को स्थापित करने के लिए वह कितनों की बलि लेंगे।' HAM के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की ओर से लगाए गए इस पोस्टर में एनडीए में शामिल दलों के नेताओं की तस्वीर भी लगाई गई है। पोस्टर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान और HAM के अध्यक्ष जीतन राम मांझी की तस्वीर है।
पूरे मामले में HAM प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह की चिट्ठी को कार्यकर्ता गांव-गांव लेकर जाएंगे। इससे पहले आरजेडी नेताओं ने रघुवंश प्रसाद सिंह के दिल्ली एम्स से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिखे पत्र पर सवाल उठाए थे। आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र ने आरोप लगाया कि रघुवंश सिंह के पत्र में सरकार ने साजिश की है। कोई भी व्यक्ति आईसीयू से पत्र नहीं लिख सकता है।