बिहार चुनावों में मायावती की पार्टी को बड़ा झटका लगा है क्योंकि BSP प्रदेश अध्यक्ष भरत बिंद आरजेडी में शामिल हो गए हैं। आपको बता दें कि बिहार चुनाव में मायावती की पार्टी बीएसपी उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी के साथ चुनाव मैदान में उतरी थी जिसको अब तगड़ा झटका लगा है। बिहार बीएसपी के अध्यक्ष भरत बिंद ने राष्ट्रीय जनता दल का दामन थाम लिया है। तेजस्वी यादव की उपस्थिति में शनिवार को भरत बिंद आरजेडी में शामिल हुए हैं। नया बिहार बनाने और नीतीश सरकार को हटाने के संकल्प के साथ उन्होंने आरजेडी की सदस्यता ग्रहण की है।
हाल ही में बीएसपी ने बिहार में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के साथ गठबंधन कर विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया। इसमें आरएलएसपी के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा गठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे। बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने खुद इस बात की जानकारी दी, जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने आरएलएसपी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ने का फैसला किया है। अगर जनता ने गठबंधन को बहुमत दिया तो आरएलएसपी के मुखिया उपेन्द्र कुशवाहा मुख्यमंत्री होंगे।
बिहार बीएसपी प्रदेश अध्यक्ष भरत बिंद ने पार्टी से नाता तोड़ लिया। उन्होंने तेजस्वी यादव की उपस्थिति में आरजेडी की सदस्यता ग्रहण कर ली। भरत बिंद ने कहा कि नया बिहार बनाने और भ्रष्ट और युवा विरोधी नीतीश सरकार को हटाने के संकल्प के साथ आरजेडी में शामिल हुए हैं। बिहार चुनाव से ठीक पहले बीएसपी प्रदेश अध्यक्ष के आरजेडी में जाने से पार्टी की चुनावी तैयारी जरूर प्रभावित होगी।
आपको बता दें कि इससे पहले राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) को भी आरजेडी ने तगड़ा झटका दिया था। जब RLSP के प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी ने आरजेडी का दामन थाम लिया। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और जगदानंद सिंह मौजूदगी में भूदेव चौधरी ने आरजेडी की सदस्यता ली थी। तेजस्वी यादव ने अपने आवास पर भूदेव चौधरी को पार्टी में शामिल कराया था।