बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अब सरगर्मी चरम पर है। इसी दौरान बुधवार को कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया। पार्टी ने इसे बिहार बदलाव पत्र 2020 नाम दिया है। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में सत्ता में आने के बाद बिहार के लोगों को पानी का अधिकार और लड़कियों को पहली कक्षा से स्नातकोत्तर (पीजी) तक मुफ्त शिक्षा देने का वादा किया है। पटना स्थित बिहार प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में घोषणा पत्र जारी करते हुए पार्टी नेता और बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि सत्ता में आने पर कांग्रेस किसानों का कर्ज माफ करेगी और बिजली बिल भी माफ करेगी। उन्होंने कहा कि पंजाब की तर्ज पर केंद्र के कृषि कानूनों को खारिज किया जाएगा।

इधर, बिहार चुनाव प्रबंधन समिति के अध्यक्ष रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि घोषणा पत्र में 12 मुख्य विंदुओं को रखा गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अगर सत्ता में आई तो राजीव गांधी कृषि न्याय योजना लागू किया जाएगा। इसके अलावा लोगों को पानी का अधिकार दिया जाएगा तथा डॉ. राजेंद्र प्रसाद वृद्ध सम्मान योजना लागू की जाएगी। उन्होंने बताया कि महागठबंधन के सत्ता में आने के बाद बालिकाओं को पहली कक्षा से लेकर पीजी तक की मुफ्त शिक्षा दी जाएगी। घोषणा पत्र में खिलाडिय़ों पर भी विशेष ध्यान दिया गया है। खिलाडिय़ों के लिए श्रीकृष्ण सिंह प्रोत्साहन योजना लागू करने का वादा किया गया तथा अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक पाने वाले खिलाडिय़ों को पद (नौकरी) देने की बात कही गई है। घोषणा पत्र में इंदिरा गांधी कन्या विवाह योजना लागू करने का वादा किया गया है।

इस दौरान नेता राजबब्बर ने कहा कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो नौकरी मिलने तक बेरोजगारों को हर महीने 1500 रुपए दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि नई सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में 10 लाख नौकरी देने का फैसला लिया जाएगा। बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस, राजद और वामपंथी दलों के साथ चुनाव मैदान में उतरी है।