बिहार राज्य में सरकार की तरफ से शराब की बिक्री पर बैन है, लेकिन यहां कैसे इसकी धड़ल्ले से बिक्री होती है इसका खुलासा एक शराबी ने ही कर दिया। यहां जमुई जिले के टाउन थाना क्षेत्र से कुछ ही दूरी पर सब्जी मंडी के पास एक शराबी ने बिहार में शराबबंदी की पोल खोल दी। खुद शराब पीकर अचानक रिक्शे पर बैठकर वह शराबबंदी का प्रचार-प्रसार करने के लिए निकल पड़ा। रिक्शे पर लाउडस्पीकर लगाकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शराबबंदी कानून के खिलाफ उसने मोर्चा खोल दिया और बताने लगा कि कैसे शराब मिलती है।

रिक्शे पर बैठकर माइक से अनाउंस करने लगा कि बिहार में खुलेआम शराब बिक रही है। नीतीश कुमार की सरकार ने पूरे बिहार में शराबबंदी की लेकिन यह बिहार के गली-मोहल्लों में खुलेआम बिक रही है। इस दौरान उसकी बातों को सुनकर वहां आसपास के लोगों की भीड़ जुट गई। इस दौरान कुछ लोगों ने उससे उसका नाम पूछा, इसपर रिक्शे पर बैठे शख्स ने अपना नाम एमकेवाई बताया।

शराबी से जब लोगों ने पूछा कि तुमने खुद शराब पी है, इस पर कहने लगा कि बिहार में शराब मिलती है तब ही तो पीते हैं। हम लोगों को जागरूक कर रहे हैं, सरकार तो कुछ करेगी नहीं। ना ही जिला प्रशासन और ना ही पुलिस कुछ करेगी। दारू और बालू का खेल खुलेआम चल रहा है, किससे छुपा नहीं है, सभी जानते हैं।

आगे शराबी ने बताया कि छोटे-छोटे बच्चे नशे के आदि हो रहे हैं। भांग, गांजा, कोरेक्स और यहां तक की शराब भी पी रहे हैं। इंसान बर्बाद हो रहा है। मां-बहन को परेशानी हो रही है। इधर, स्थानीय लोगों ने कहा कि इसका नाम नरेश है। वह रिक्शा चलाने का काम करता है। अक्सर प्रचार-प्रसार करने के लिए ही इसके रिक्शे का प्रयोग किया जाता है।