बिहार में लोकसभा की एक और विधानसभा की पांच सीटों पर हुए उप चुनाव की मतगणना कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज सुबह आठ बजे शुरू हो गई। राज्य निर्वाचन कार्यालय के अनुसार, समस्तीपुर (सुरक्षित) संसदीय क्षेत्र के साथ ही किशनगंज जिले के किशनगंज, सहरसा जिले के समिरी बख्तियारपुर, सिवान जिले के दरौंदा, भागलपुर जिले के नाथनगर और बांका जिले के बेलहर विधानसभा सीटों के लिए 21 अक्टूबर को हुए उप चुनाव के मतों की गिनती आज सुबह आठ बजे जिला मुख्यालयों में बनाये गये मतगणना केंद्रों पर शुरू हो गई। 

मतगणना के लिए बनाये गये केंद्रों पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गये हैं। मतगणना स्थल की निगरानी के लिए पूरे परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। मतगणना कार्य के लिए तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों के अलावा प्रत्याशी, उनके निर्वाचन अभिकर्ता और मतगणना एजेंटो को ही परिसर के भीतर पास के जरिए प्रवेश दिया गया है। इस उप चुनाव में मतदान के लिए 3258 वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) का इस्तेमाल किया गया। उप चुनाव के लिए सोमवार को हुये मतदान में मतदाताओं ने कुल 51 प्रत्याशियों की किस्मत को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में कैद कर दिया था, जिसका पता आज शाम तक चल जाएगा। 

उप चुनाव के लिए 21 अक्टूबर को हुये मतदान में समस्तीपुर (सु) लोकसभा क्षेत्र में वोङ्क्षटग प्रतिशत 45 रहा। किशनगंज जिले के किशनगंज विधानसभा क्षेत्र में 59.18 प्रतिशत, सिवान जिले के दरौंदा में 42.20 प्रतिशत और भागलपुर जिले के नाथनगर विधानसभा क्षेत्र में 43.20 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस दौरान सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र में 52.5 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया वहीं बेलहर का वोङ्क्षटग प्रतिशत 53.49 रहा। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) प्रमुख एवं केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के छोटे भाई रामचंद्र पासवान के निधन के कारण समस्तीपुर सीट रिक्त हुई है। श्री रामचंद्र पासवान का 21 जुलाई 2019 को दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में निधन हो गया था। वहीं, नाथनगर, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, बेलहर तथा किशनगंज विधानसभा सीट लोकसभा चुनाव में विधायकों के सांसद बनने के कारण रिक्त हुई है।