बिहार में कुशेश्वरस्थान और तारापुर विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव को लेकर विपक्षी दलों के महागठबंधन में शामिल कांग्रेस ने अपने सहयोगी दल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को खुली चुनौती देते हुए दोनों सीटों पर प्रत्याशी उतारने की घोषणा कर दी। कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने आईएएनएस के साथ बातचीत में कहा कि राजद ने गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया, जिसको देखते हुए अब पार्टी दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी। उन्होंने कहा कि बिहार कांग्रेस में करीब-करीब इस पर सहमति बन गई है और अब कांग्रेस पूरे दमखम से चुनाव लड़ेगी।

उन्होंने यह भी कहा कि कुशेश्वरस्थान सीट से पार्टी के प्रत्याशी के रूप में अशोक कुमार का नाम लगभग तय है। तारापुर विधानसभा सीट से भी प्रत्याशी को लेकर मंथन जारी है। उन्होंने संभावना जताते हुए कहा कि मंगलवार या बुधवार तक दोनों सीटों पर प्रत्याशी की घोषणा कर दी जाएगी। शर्मा कहते हैं कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में कांग्रेस के हिस्से कुशेश्वर स्थान और तारापुर राजद के हिस्से आई थी। तारापुर से राजद के प्रत्याशी 7225 मतों से जबकि कुशेश्वरस्थान से कांग्रेस के प्रत्याशी 7222 मतों से पराजित हुए थे। इस स्थिति में कुशेश्वरस्थान पर कांग्रेस का दावा पुख्ता था।

इसके बावजूद राजद ने गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया और दोनों सीटों पर प्रत्याशी की घोषणा कर दी। ऐसी स्थिति में कांग्रेस भी अब दोनों सीटों पर प्रत्याशी उतारने का निर्णय लिया है। राजद द्वारा कांग्रेस को कमजोर समझने और पिछले चुनाव में कांग्रेस के स्ट्राइक रेट को लेकर उठाये गए सवालों पर शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के स्ट्राइक रेट के सामने राजद बौना साबित हो जाएगा। उन्होंने राजद के नेताओं को चुनौती देते हुए कहा कि कांग्रेस का इतिहास देखकर बात करनी चाहिए। बिहार के तारापुर और कुशेश्वरस्थान सीट पर उपचुनाव हो रहा है। विधानसभा चुनाव 2020 में दोनों सीटों पर जदयू के प्रत्याशी विजयी हुए थे। कुशेश्वरस्थान से विधायक शशिभूषण हजारी तथा तारापुर के विधायक मेवालाल चौधरी के निधन के बाद दोनों सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में 30 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे, जबकि दो नवंबर को परिणाम घोषित होगा। प्रत्याशी आठ अक्टूबर तक नामांकन का पर्चा दाखिल कर सकते हैं।