बिहार की राजधानी पटना के फुलवारीशरीफ में राष्ट्र विरोधी पीएफआई से जुडे संदिग्ध लोगों की गिरफ्तारी के बाद अब जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है। इसके तार अब पाकिस्तान सहित अन्य देशों से भी जुड़ता जा रहा है। भारत विरोधी कार्य करने के लिए देश और विदेशों के लोगों को भी जोड़ा जा रहा था। पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मानवजीत सिंह ढिल्लों ने कहा कि कुछ और लोगों को हिरासत में लिया गया है। उन्होंने बताया कि फुलवारीशरीफ थाना अंतर्गत ईसोपुर नहर के पास संदिग्ध मरगुव अहमद दानिश उर्फ ताहिर को गिरफ्तार किया गया है।

ये भी पढ़ेंः सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, कहाः रिलेशनशिप ब्रेक होना रेप का आधार नहीं हो सकता


उसके पास मौजूद मोबाइल सामग्री से यह साफ है कि इनके द्वारा सांप्रदायिक विरोधी और राष्ट्र विरोधी कार्य तकनीकी माध्यमों का सहारा लेते हुए स्थानीय तथा विदेशी तत्वों के मदद से किया जा रहा है। मरगुव अहमद दानिश मूल रूप से गया जिला के बिथो शरीफ का रहने वाला है। इनके परिवार के कुछ लोग पाकिस्तान के कराची में भी बसे हुए है। इन्होने हाफिज बस्तानिया एवं फोकानिया की पढ़ाई की है। 2016 से ये वाट्सएप ईमेल तथा फेसबुक प्रोफाइल के माध्यम से लोगों के संपर्क में हैं। एसएसपी के मुताबिक ताहिर तहरिक ए लब्बैक पाकिस्तान से जुड़ा है। पाकिस्तान का फैजान नाम से कोई व्यक्ति इनके साथ नियमित संपर्क में है।

ये भी पढ़ेंः मौसम विभाग की बड़ी चेतावनी, अगले 24 घंटें होंगे बेहद खतरनाक, यहां होगी भारी से अति भारी बारिश


उन्होंने बताया कि ताहिर व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से गजवा-ए-हिन्द से जुड़ा है और इसका ग्रुप एडमिन भी है। फैजान भी इस ग्रुप का एडमिन है। कई सारे पाकिस्तानी नम्बर इसके साथ जुड़े हुए हैं। इसका ग्रुप आइकन एवं मैसेज देश विरोधी सम्प्रदाय विरोधी, भड़काऊ, आपत्तिजनक तथा गैरकानूनी एवं असंवैधानिक है। इसमें भारत पाकिस्तान और यमन के लोगों के मोबाइल नंबर नम्बर जुड़े हैं। एसएसपी के मुताबिक ताहिर द्वारा एक अन्य वाट्सएप ग्रुप गजवा-ए-हिन्द के नाम से बनाया गया है। जिसमें बंगलादेशी और पाकिस्तानी लोगों के नम्बर जुड़े हैं। इसका भी ग्रुप आइकन एवं मैसेज आपत्तिजनक, राष्ट्रविरोधी और असंवैधानिक है। जांच के बाद साफ हुआ कि इसके यूट्यूब पर भी फेसबुक प्रोफाइल से उन्मादी और भड़काऊ भाषण और तस्वीर अपलोड किया जाता रहा है। उन्होंने बताया कि इसके विरूद्ध फुलवारीशरीफ थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

इसके अलावा पटना के पीरबहोर थानाक्षेत्र के सब्जीबाग में भी शुक्रवार को एक फ्लैट में छापेमारी की गई है। जहां से कई तरह के पोस्टर बरामद किए गए हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, मार्शल आर्ट के नाम पर कुछ स्थानीय लोगों को भी तलवार, चाकू चलाने का प्रशिक्षण दिया गया। इनकी योजना इस्लामिक राष्ट्र बनाने को लेकर लोगों को उत्साहित करना था।