जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में शनिवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकवादी मारे गए। मारे गए आतंकवादी में से एक की पहचान आरिफ हाजम के रूप में हुई है, जो छह जून, 2019 को 162 प्रादेशिक सेना (टीए) के हवलदार मंजूर बेग की हत्या में शामिल था। उस समय हवलदार मंजूर बेग छुट्टी में अपने घर आया हुआ था।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आज अपराह्न राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर) और जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) ने अनंतनाग के रानीपोरा इलाके के क्वारीगाम में संयुक्त रूप से घेरा एवं तलाशी अभियान शुरू किया। इलाके को सील करने के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की और मुठभेड़ शुरू हो गई। 

उन्होंने बताया कि प्रारम्भ में मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। उसके बाद सुरक्षा बलों ने एक और आतंकवादी को मार गिराया। अंतिम रिपोर्ट प्राप्त होने तक अभियान जारी था। मारे गए आंतकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित थे।प्रवक्ता ने बताया कि मुठभेड़ स्थल की ओर जाने वाले सभी रास्तों को सील कर दिया गया है और कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए आसपास के गांवों में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। एक स्थानीय निवासी ने बताया कि अपने बागों और खेतों में काम कर रहे किसान भी मुठभेड़ शुरू होने पर अपने घरों की ओर दौड़ पड़े और उसके बाद घरों से बाहर नहीं निकले हैं।