मध्य प्रदेश में आगामी दिनों में भारतीय जनता पार्टी कई बड़े फैसले करने की तैयारी में है। इसी के मद्देनजर गुरुवार को दिल्ली में प्रदेश भाजपा की एक बड़ी बैठक बुलाई गई है, जिसमें बड़े नेता मौजूद रहेंगे। राज्य में भाजपा चुनावी मोड में आ चुकी है और वह अगले साल होने वाले चुनाव को लेकर सधे हुए कदम बढ़ा रही है। भाजपा का खास जोर आदिवासी वोट बैंक पर है, यही कारण है कि पार्टी के बड़े नेताओं के राज्य में दौरे हो रहे हैं। बीते सप्ताह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का भोपाल दौरा हुआ और उसके बाद राज्य इकाई की कोर कमेटी की दिल्ली में बैठक बुलाई गई है।

ये भी पढ़ेंः महिला प्रोफेसर को बंधक बनाना पड़ गया महंगा, सांसद के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी


सूत्रों की मानें तो गुरुवार को दिल्ली में होने वाली कोर कमेटी की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी.एल. संतोष के अलावा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा और संगठन के महामंत्री हितानंद शर्मा मौजूद रहेंगे। इस बैठक में राज्य से नाता रखने वाले केंद्रीय मंत्रियों के भी हिस्सा लेने की उम्मीद जताई जा रही है। राज्य में शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल में वर्तमान में चार पद रिक्त हैं। 

ये भी पढ़ेंः ताजमहल में भगवाधारी बैन! जगद्गुरु परमहंसाचार्य को धर्मदंड ​के साथ आने पर रोका


इसके चलते कोर कमेटी की बैठक में मंत्रिमंडल में फेरबदल और विस्तार पर भी चर्चा संभावित है। इस बैठक में मंत्रियों के परफॉर्मेंस पर भी चर्चा होगी और उसके बाद कई मंत्रियों के विभाग तो बदले ही जा सकते हैं इसके अलावा कुछ को मंत्रिमंडल से बाहर भी किया जा सकता है। पार्टी के सूत्रों का दावा है कि निगम और मंडलों में भी कई पद रिक्त है। इन पदों पर भी कई लोगों को एडजस्ट किया जाना है। इसके जरिए पार्टी सोशल इंजीनियरिंग पर भी काम करना चाह रही है ताकि हर वर्ग और समाज से जुड़े लोगों का पर्याप्त प्रतिनिधित्व सरकार में हो, इस पर भी मंथन संभावित है।