यूपी में बारिश के कारण जिन किसानों की फसलें खराब हुईं थी अब योगी सरकार (Yogi government give compensation to the farmers whose crops were damaged due to rain in UP) उन्हें मुआवजा देने जा रही है। प्रदेश में धान व गन्ना (Damage caused to crops like paddy and sugarcane) आदि फसलों के हुए नुकसान का आकलन पूरा हो गया है। करीब 2 लाख 35 हजार किसान ऐसे पाए गए हैं, जिनकी फसल हालिया बारिश (crops got damaged due to recent rains and floods) और बाढ़ के कारण खराब हो गई। कृषि और राजस्व विभाग के सर्वेक्षण के बाद शासन ने करीब 77 करोड़ 88 लाख रुपये जारी कर दिया है। अब सरकार ने जल्द से जल्द इन किसानों को पैसा देने के आदेश दिए हैं। किसान जिलाधिकारी ऑफिस में बनी लिस्ट में अपना नाम चेक कर सकते हैं। 

शुक्रवार को उच्चस्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री ने फसल क्षतिपूर्ति आकलन की प्रगति की समीक्षा की। अपर मुख्य सचिव, राजस्व मनोज कुमार सिंह (Additional Chief Secretary, Revenue Manoj Kumar Singh) ने मुख्यमंत्री को बताया कि बाढ़ और अतिवृष्टि से कृषि फसलों को हुए नुकसान का आकलन पूरा हो गया है। 35 जिलों में 02 लाख 35 हजार 122 किसान ऐसे चिन्हित हुए हैं, जिनकी कृषि उपज बाढ़ अथवा भारी बारिश के चलते खराब हुई है। 

मुआवजे के एवज में इन किसानों को 78 करोड़ 88 लाख की धनराशि दी जाने का काम जल्द ही शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि सर्वाधिक 37,848 प्रभावित किसान देवरिया जिले के हैं, जबकि सबसे कम नुकसान श्रावस्ती जिले में हुआ है। सीएम ने कहा कि एक भी पात्र किसान क्षतिपूर्ति से वंचित न रहे। जल्द से जल्द सभी की क्षतिपूर्ति करा दी जाए। 

सीएम योगी ने कहा कि बीते 17 अक्टूबर से 19 अक्टूबर के बीच भी कई जिलों में भारी वर्षा हुई है। इस दौरान भी फसलों पर बुरा असर पड़ा है। ऐसे में तत्काल सर्वे कराकर जहां भी मानक से अधिक फसल खराब हुई है, संबंधित किसानों को मुआवजा दिया जाए। सीएम के निर्देश के बाद राजस्व विभाग ने इन तीन दिनों में फसलों के खराब होने का आकलन करने बाबत आदेश जारी कर दिया है।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Union Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) ने शुक्रवार को कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाने की दिशा में काम करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की सराहना की। उन्होंने एग्रीकल्चर टुडे (12th Agriculture Leadership Conference organized by Agriculture Today Group) ग्रुप द्वारा आयोजित 12वें एग्रीकल्चर लीडरशिप कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा और उत्तराखंड सहित अन्य राज्यों में भी कृषि के क्षेत्र में अच्छा काम हो रहा है। 

एक आधिकारिक बयान के अनुसार तोमर ने इस दौरान कहा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही की कोशिशों से उत्तर प्रदेश को खासी सफलता मिली है। कृषि के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आया है, जिससे करोड़ों किसानों को फायदा हो रहा है। एग्रीकल्चर टुडे ग्रुप की ओर से उत्तर प्रदेश को कृषि के लिए 2021 में सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार मिला। हरियाणा को नवाचार के लिए सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार मिला, जबकि उत्तराखंड को बागवानी के लिए सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार मिला