अरबों रुपए के घोटाले में भगोड़े आरोपी विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बड़ा झटका दिया है।  प्रवर्तन निदेशालय ने भगोड़े आरोपी विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की जब्त की गई संपत्ति का एक हिस्सा सरकारी बैंकों और केंद्र को ट्रांसफर कर दिया है।  प्रवर्तन निदेशालय ने आज ट्टिट के जरिए यह जानकारी दी है। 

प्रवर्तन निदेशालय के मुताबिक इन लोगों की 18,170.02 की संपत्ति जब्त की गई थी जिसमें 9,371.17 करोड़ रुपए के एसेट्स बैंकों और केंद्र सरकार को ट्रांसफर कर दिए गए हैं। 

प्रवर्तन निदेशालय ने एक ट्वीट में कहा कि विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के मामले में पीएमएलए के तहत 18,170.02 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई थी।  साथ ही निदेशायल ने यह भी बताया है कि यह बैंकों को हुए कुल नुकसान के 80.45 फीसदी राशि के बराबर है, जिसका एक हिस्सा बैंकों और सरकार को ट्रांसफर कर दिया गया है।  ट्रांसफर की गई कुल संपत्ति की कीमत फिलहाल 9,371.17 करोड़ रुपए आंकी जा रही है।  ईडी ने प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत इन आरोपियों की संपत्ति जब्त की है।