जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में पिछले दिनों आतंकी वारदातों में तेजी देखी गई। आतंकवादियों ने नई तकनीक पर काम करते हुए कुछ ही दिनों के भीतर सात आम नागरिकों की हत्या कर डाली, जिसके बाद केंद्र शासित प्रदेश से लेकर नई दिल्ली (new delhi) तक हड़कंप मच गया। इन आतंकी घटनाओं के पीछे पाकिस्तान (Pakistan) का भी रोल सामने आया है। इस बीच, नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM narendra modi) और एनएसए अजीत डोभाल (NSA Ajit Doval) के बीच हाई लेवल की बैठक हो रही है। कश्मीर मुद्दे को लेकर चल रही बैठक काफी अहम मानी जा रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पीएम मोदी (modi) और अजीत डोभाल (Ajit Doval) के बीच यह बैठक कश्मीर और उसके बॉर्डर वाले इलाकों के मुद्दे पर हो रही है। इसमें डोभाल पीएम मोदी को इससे संबंधित जानकारियां उपलब्ध करवा रहे हैं। हालांकि, बैठक में क्या-क्या बातचीत हुई है, इसके बारे में कोई भी आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है। मालूम हो कि आतंकवाद के मुद्दे पर हाल ही में गृह मंत्रालय में भी एक अहम बैठक हुई थी। कश्मीर घाटी में आतंकवादियों के खिलाफ नए सिरे से मोर्चा खोल दिया गया।

आतंकी वारदातों की बढ़ोतरी के बाद सेना ने घाटी में ऑल आउट अभियान को और तेज कर दिया। महज 24 घंटों के भीतर ही सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर में छह आतंकियों को मार गिराया। इनमें से कुछ ऐसे आतंकी भी शामिल थे, जिन्होंने हाल ही में आम नागरिकों की हत्या करने में भी शामिल रहे।

उधर, जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में इनपुट मिलने के बाद सेना के जवानों ने एनकाउंटर की शुरुआत की थी। जवानों ने आतंकियों को घेर लिया था, लेकिन इस बीच आतंकियों की कायरतापूर्वक की गई फायरिंग में जेसीओ समेत पांच जवान शहीद हो गए थे। हमले में शहीद हुए जवानों में सूबेदार जसविंदर सिंह, नायक मनदीप सिंह, सिपाही गज्जन सिंह, सरज सिंह और केरल के रहने वाले वैशाख एस शामिल थे। इन सभी शहीद हुए जवानों का सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया है।