छत्तीसगढ़ के सुकमा (Sukma) जिले में पुलिस और सीआरपीएफ (CRPF) को बड़ी सफलता मिली है. यहां आठ नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है (Naxalites Arrested). इनमें से छह नक्सलियों के सिर पर कुल मिलाकर 17 लाख रुपये का इनाम है. सभी की गिरफ्तारी चिंतलनार पुलिस थाने के मोरपल्ली गांव के पास स्थित एक जंगल में हुई थी.

पुलिस के मुताबिक इन सभी नक्सलियों को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया था. इस कार्रवाई को जिला पुलिस बल और सीआरपीएफ की इकाई कोबरा (कमांडो बटालियन फॉर रेजॉल्यूट एक्शन) ने ‘एरिया डोमिनेशन ऑपरेशन’ के तहत अंजाम दिया. सुकमा के पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा ने बताया कि लाके में नक्सलियों की गतिविधियों को लेकर खुफिया सूचना मिली थी. जिसके आधार पर सुरक्षा बलों ने दो नवंबर को ऑपरेशन की शुरुआत की थी.

बताया गया कि गिरफ्तार किए गए नकसली कवासी राजू उर्फ संतू के सिर पर आठ लाख और दूसरे नक्सली कलमू मादा के ऊपर पांच लाख रुपये का इनाम है. वहीं कोमराम कान्हा, मदकम हिडमा, तुरसम मुदराज और मदकम एनका पर एक-एक लाख रुपये का इनाम था. इनके अलावा गिरफ्तार किए गए दो अन्य नक्सलियों में मदकम सोमा और मदकम मुत्ता शामिल हैं. सुरक्षा बलों ने इनके पास से 35 डेटोनेटर, छह जिलेटिन की छड़ें, दो आईईडी, बैटरियां, तार और अन्य सामग्री बरामद की है.

इससे पहले छत्तीसगढ़ के ही दंतेवाड़ा में DRG जवानों ने पांच लाख के इनामी नक्सली को मुठभेड़ में ढेर किया. मारे गए नक्सली की पहचान सुरक्षाबलों ने रामसू के रूप में की है. जानकारी के मुताबिक रामसू प्लाटून नंबर 16 का सेक्शन कमांडर था. एनकाउंटर के बाद जवानों को नक्सली के पास से 7.62 एमएम की पिस्टल, पांच किलो आईईडी और बम बनाने में इस्तेमाल किया जाने वाला सामान बरामद किया है.

दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया था कि इंदिरावती इलाके में जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई. मुठभेड़ खत्म होने के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया. जिसमें एक नक्सली का शव बरामद हुआ. इसकी पहचान रामसू के रूप में की गई जो प्लाटून 16 का एरिया कमांडर था और इस पर पांच लाख रुपए का इनाम भी था. मारे गए नक्सली के पास से एक पिस्टल, 5 किलो IED और वायर मिला है.