यूपी के चंदौली जिले में मंगलवार को घर की पुताई के लिए जंगल (Digging soil in the forest for house painting) में मिट्टी खोदते समय टीला ढह गया. मलबे में दबकर तीन (Three people died after being buried under the rubble) लोगों की मौत हो गई. जबकि आशीष नाम का एक युवक घायल बताया जा रहा है. 

हादसे की सूचना पाकर एसडीएम और जनप्रतिनिधि मौके पर पहुंचे. जबकि दो अन्य लोग टीले के अंदर दबे हुए हैं, उन्हें जेसीबी की मदद से निकाला जा रहा है. घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है. 

फिलहाल मौके पर रेस्क्यू (Rescue operation is going on at the spot) ऑपरेशन जारी है. सूचना पर एसडीएम डॉ अतुल गुप्ता के अलावा पुलिस फोर्स मौजूद है.

दरअसल नौगढ़ थाना क्षेत्र के उदितपुर सुर्रा निवासी शिव कुमार (50), दूधनाथ विश्वकर्मा (48) गांव के लोगों के साथ घर की पुताई के लिए आज बंधी के निकट जंगल में टीले से पीली मिट्टी खोदने गए थे. मिट्टी खोदते समय अचानक टीला ढह गया. 

कुछ लोग दूर खड़े थे, शोर मचाने पर गांव के लोगों ने मिट्टी हटाकर उसे निकाला लेकिन तब तक उनकी सांसें थम चुकी थीं. हादसे की जानकारी मिलने पर उदितपुर सुर्रा गांव के लोगों ने फावड़ों से मिट्टी हटाकर लोगों को बाहर निकाला. लेकिन तब तक दूधनाथ और शिव कुमार की मौत हो चुकी थी.

इस बीच सूचना पर पहुंची पुलिस ने जेसीबी की मदद से रेस्क्यू शुरू किया. जिसमें 3 लोगों को बाहर निकाला. लेकिन तब शिव कुमार (50), दूधनाथ विश्वकर्मा (48) रितेश (8) सांसे थम चुकी थी. अन्य लोगों के भी दबे होने की आशंका में प्रशासन के द्वारा जेसीबी मलबा हटाने का काम चल रहा है. सूचना पर एसडीएम डॉ अतुल गुप्ता के अलावा पुलिस फोर्स मौजूद है, फिलहाल मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. सूचना पर एसडीएम डॉ अतुल गुप्ता के अलावा समाजसेवी नंद लाल यादव, पूर्वांचल मजदूर संघ के अध्यक्ष देवेंद्र सिंह यादव घटनास्थल पर पहुंचे.