मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले महुआ झाला इलाके के एक घर में करंट से एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत हो गई।  परिवार का एक युवक पानी का टैंक खोलने के लिए टंकी में उतरा, तभी उसे करंट लग गया, परिवार के लोगों ने जब उसे तड़पता देखा तो बचाने दौड़े और 7 लोग और करंट की चपेट में आ गए, जिसमें से 5 की मौत हो गई।  दो लोगों की गंभीर रूप से झुलस गए जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। 

 घटना की जानकारी लगते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी, जिसके बाद घायलों को अस्पताल भिजवाया गया, वहीं मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए पहुंचाया गया है।  परिवार के 6 लोगों की एक साथ हुई मौत के बाद पूरे इलाके में मातम पसरा हुआ है।  घटना के बाद क्षेत्रीय विधायक पुत्र ने भी पीडि़त परिवारों से मुलाकात कर पूरी घटना की जानकारी ली है। साथ ही मदद का भरोसा भी दिलाया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आदेश पर मृतकों की पत्नियों को चार-चार लाख रुपये एवं पिता को दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई गई है। 

महुआ झाला निवासी लक्ष्मण अहिरवार के यहां पानी का टैंक बना हुआ था।  टैंक में अंधेरा रहता था, इसलिए पानी निकालने के लिए लाइट की व्यवस्था की गई थी। जिससे की पानी निकालने में कोई दिक्कत नहीं आए।  सुबह आठ बजे जब परिवार का एक युवक पानी निकालने के लिए टैंक खोलने का प्रयास कर रहा था कि तभी उसे करंट लग गया।  परिवार के सदस्यों ने जब युवक को करंट से तड़पते देखा तो उन्होंने युवक को पकड़कर खींचने का प्रयास किया, जिससे बाकी सदस्य भी करंट की चपेट में आ गए। 

इस घटना में लक्षमण अहिरवार पुत्र रमुआ उम्र 55 वर्ष, शंकर अहिरवार पुत्र हल्ली अहिरवार उम्र 35 वर्ष, मिलन अहिरवार पुत्र हल्लू उम्र 25 वर्ष, नरेंद्र पुत्र जगन अहिरवार उम्र 20 वर्ष, रामप्रसाद पुत्र हल्ली अहिरवार उम्र 30 वर्ष, विजय पुत्र जगन अहिरवार उम्र 20 वर्ष की करंट लगने से मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल भी हुए हैं। 

घटना की जानकारी लगते ही थाना प्रभारी मुकेश ठाकुर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।  इसके बाद शवों को पीएम के लिए डेडहाउस पहुंचा दिया गया है, जबकि घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  छतरपुर जिले के महुआ झाला इलाके में करंट लगने से छह लोगों की मौत की घटना को लेकर गृह मंत्री डा नरोत्तम मिश्रा ने ट्विट करके संवेदना प्रकट की है।