बाराबंकी। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chhattisgarh Chief Minister Bhupesh Baghel) ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों के लिए प्रचार किया, जहां उन्होंने जनता से जाति और धर्म पर नहीं, बल्कि रोजगार जैसे मुद्दों पर मतदान करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार (BJP Government) की गलत नीतियों के कारण बेरोजगारी देश के लिए सबसे बड़ी समस्या बन गई है। 65 करोड़ से अधिक युवा, जो देश की ताकत बन सकते थे, बेरोजगार हैं।

बीजेपी शासित इस राज्य में मच गई खलबली, भाजपा नेताओं ने ही मांग लिया प्रदेश पार्टी अध्यक्ष का इस्तीफा

चौथे चरण के चुनाव के प्रचार के लिए बाराबंकी पहुंचे बघेल ने राज्य में आवारा पशुओं की समस्या को लेकर भी भाजपा पर निशाना साधा। एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आवारा पशुओं की समस्या के लिए भाजपा को दोषी ठहराया जाना चाहिए क्योंकि वे गाय की जय करते हैं लेकिन कोई समाधान नहीं निकालते हैं। छत्तीसगढ़ की गोधन न्याय योजना का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने वादा किया कि अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो उत्तर प्रदेश के हर गांव में उसी तरह गौशाला का निर्माण किया जाएगा जैसे छत्तीसगढ़ में हुआ है।

कानून और संसदीय कार्य मंत्री रतन लाल नाथ का पाकिस्तान पर तीखा हमला, कहा - बांग्लादेश से माफी मांगे पाक

प्रधानमंत्री के भाषण पर तंज कसते हुए बघेल ने कहा कि सभी सरकारें अपने लोगों के लिए काम करती हैं, लेकिन लोगों से एहसान चुकाने के लिए नहीं कहती हैं। उन्होंने दावा किया कि सरकार 5 किलो अनाज देकर वोट खरीदना चाहती है। बघेल ने कहा, 'छत्तीसगढ़ सरकार 35 किलो चावल प्रदान करती है और खाद्यान्न उपलब्ध कराना कोई एहसान नहीं है, यह सरकार की जिम्मेदारी।' कृषि ऋण माफी पर उत्तर प्रदेश सरकार पर सवाल उठाते हुए, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा, 'योगी सरकार ने पहले के चुनावों में किसानों की ऋण माफी की बात की थी लेकिन उत्तर प्रदेश में कितने किसानों के ऋण माफ किए गए हैं।'

उन्होंने आगे दावा किया कि किसान भाजपा के एजेंडे में 'कभी नहीं' थे, जबकि कांग्रेस ने अपना वादा निभाया और छत्तीसगढ़ में 'सभी' किसानों के ऋण माफ कर दिए।