भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को यूपी पुलिस ने कानपुर में गिरफ्तार कर लिया। जब वह उन्नाव पीड़िता से मिलने के लिए रीजेंसी अस्पताल जा रहा था, तब उसका इलाज चल रहा था। आजाद को शांति भंग होने की आशंका में हिरासत में लिया गया। भीम आर्मी समर्थकों ने हंगामा खड़ा कर दिया और आजाद की तत्काल रिहाई की मांग करते हुए प्रदर्शन किया है।


वैसे जानकारी के लिए बता दें कि आजाद 17 फरवरी को जहर खाने के कारण मारे गए दोनों लड़कियों के परिजनों से मिले। वह गांव के बाहरी इलाके में एक सड़क के किनारे भोजनालय में परिवार के सदस्यों से मिले, पुलिस को एक पर्ची दी। आजाद ने पहले चेतावनी दी थी कि अगर वह तीसरी लड़की को उन्नत इलाज के लिए दिल्ली नहीं ले जाते तो वे उन्नाव चले जाते, तो शायद जान बच जाती।