पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर राज्य की खराब वित्तीय हालत का हवाला देते हुए अगले 2 वर्षों के लिए एक लाख करोड़ रुपये के विशेष पैकेज की मांग की है।संसद भवन परिसर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए भगवंत मान ने कहा कि पंजाब की वित्तीय स्थिति बहुत ही खराब है। राज्य पर तीन लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का कर्जा है। आम आदमी पार्टी को सत्ता में आए हुए एक सप्ताह ही हुआ है। हम कोशिश कर रहे हैं कि माफिया और खजाने की लूट को रोक कर भरपाई की जाए, लेकिन पंजाब को मदद की जरूरत है।

ये भी पढ़ेंः रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच विदेश मंत्री जयशंकर ने किया बड़ा खुलासा, इस वजह से वापस आ सके भारतीय छात्र


मान ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री से एक लाख करोड़ रुपये के विशेष पैकेज की मांग की है। उन्होंने इसके बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि राज्य सरकार ने केंद्र से अगले दो वर्षों तक हर वर्ष 50 हजार करोड़ रुपये का पैकेज देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इन 2 वर्षों में पंजाब अपने खजाने और वित्तीय स्थिति को संभाल लेगा और पंजाब फिर से अपने पांव पर खड़ा हो जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वित्त मंत्री से बात कर पंजाब को दोबारा रंगला पंजाब बनाने में मदद करेंगे।

ये भी पढ़ेंः दो बच्चे सहित 6 महिलाओं को जिंदा जलाकर मार डाला था, अब परिजनों से मिलेंगी ममता बनर्जी


मान ने पंजाब की खराब हालत के लिए पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी वजह से आज पंजाब की इतनी बुरी हालत हो गई है, जिसे कभी देश का नग माना जाता था। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने उन्हें चुनाव जीतने और मुख्यमंत्री बनने की बधाई दी और यह आश्वासन भी दिया कि मिल कर देश को आगे बढ़ाना है, पंजाब का विकास करना है। मान ने दावा किया कि पंजाब को दोबारा देश का नंबर वन राज्य बनाएंगे। मान ने राष्ट्रीय सुरक्षा और पंजाब की सुरक्षा के लिए भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भारत सरकार का सहयोग मांगा। जिसके जवाब में प्रधानमंत्री ने उन्हें देश की सुरक्षा के संबंध में लाए गए हर प्रस्ताव का समर्थन करने का आश्वासन दिया। बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाए जाने को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री से मुलाकात के दौरान वो इस पर चर्चा करेंगे।