चंडीगढ़. पंजाब में आम आदमी पार्टी की भगवंत मान सरकार के वित्त मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने अपना पहला बजट विधानसभा में पेश किया. उन्होंने एक जुलाई से मुफ्त बिजली का वादा पूरा करने का ऐलान किया.

पंजाब सरकार ने प्रदेश के किसानों के लिए बड़ी घोषणा करते हुए कृषि क्षेत्र के लिए 11,000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. कुल राशि में से 200 करोड़ रुपये पराली जलाने की समस्या के समाधान के लिए आवंटित किए जाएंगे. इसके अलावा सरकार ने अगले पांच वर्षों में राज्य में 16 मेडिकल कॉलेज स्थापित करने का वादा किया है. वित्त मंत्री विधानसभा में बताया कि इससे राज्य में कॉलेजों की कुल संख्या 25 हो जाएगी. 

वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा कि मुफ्त बिजली का वादा एक जुलाई से पूरा होगा. बजट का एक-एक पैसा लोगों पर खर्च होगा. उन्होंने कहा कि वन विधायक वन पेंशन से 19 करोड़ हर साल और पेपरलेस बजट से 21 लाख रुपये बचेंगे. उन्होंने कहा कि लोगों की राय से पहली बार पंजाब का बजट तैयार किया गया है. यह जनता का बजट है और 20,384 सुझाव लोगों ने दिए हैं, जिसमें से 27.3 प्रतिशत सुझाव राज्य की महिलाओं ने दिए.

पंजाब सरकार ने वित्तीय साल के लिए 1.55860 करोड़ का बजट अनुमान पेश किया है. पिछले साल के मुकाबले यह 14 प्रतिशत ज्यादा है. 60 हजार 440 करोड़ रुपये कर्मचारियों के वेतन और पेंशन के लिए रखे गए हैं. वहीं पहली बार प्रदेश सरकार टैक्स चोरी रोकने के लिये यूनिट बनाने जा रही है. टैक्स की चोरी को लेकर पिछली सरकार ने कोई इंतजाम नहीं किए.